mp2मनासा,  मनासा विधानसभा को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग के साथ ही किसानों की समस्याओं व प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के साथ की जा रही ज्यादतियों के खिलाफ बुधवार को कांग्रेस ने जनपद पंचायत के सामने धरना देकर प्रदेश सरकार को सत्ता से बेदखल करने का शंखनाद सैकड़ों किसानो की मौजूदगी मे पूर्व मंत्री महेन्द्रसिंह कालुखेड़ा ने किया. मनासा में आयोजित धरना प्रदर्शन मे क्षेत्र के किसानो ने पूर्व विधायक विजेन्द्रसिंह मालाहेडा के नेतृत्व में किसानों ने हुंकार भरी.

पूर्व मंत्री महेन्द्रसिंह कालूखेड़ा ने अपने उद्बोधन मे नाम लिये बगैर पिछली सांसद व भाजपा के डॉं. पांडे पर विकास के नाम पर कुछ नही करने का भी आरोप लगाया. साथ ही उन्होंने किसानो से प्रदेश सरकार के भरोसे नही रहने की बात कही. धरने में कलेक्टर नंदकुमारम के स्थानांतरण को लेकर क्षेत्रीय विधायक कैलाश चावला को जमकर कोसा गया. प्रदेश भाजपा सरकार के खिलाफ आयोजित धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुवे पूर्व मंत्री महेन्द्रसिंह कालुखेड़ा ने कहा कि कंजार्डा व खानखेडी उद्वहन सिंचाई योजना का मामला विधानसभा में उठाऊंगा. कालुखेडा ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में किसानो को हथकडिय़ां डाली जा रही है.

प्रदेश की शिवराज सरकार शासन करने का हक खो चुकी है. धरना प्रदर्शन मे मौजूद किसानो को संबोधित करते हुवे पूर्व विधायक विजेन्द्रसिंह मालाहेडा विज्जु बना ने कहा कि मंडी अध्यक्ष से लेकर विधायक रहते हुवे किसानो व क्षेत्र के विकास के लिये प्रदेश सरकार से संघर्ष कर मनासा को कई सौगाते सिंधियाजी व कालुखेडा के सहयोग से दिलाई है. क्षेत्र मे अल्प वर्षा के कारण किसानो की फसले पुरी तरह से बर्बाद हो चुकी है. लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार के दबाव मे मनासा क्षेत्र मे प्रशासन मे काम कर झुठी रिपोर्ट शासन को भेजी गई.

Related Posts: