24modi55न्यूयॉर्क,  भारत में अमेरिकी निवेश आमंत्रित करने का पुरजोर प्रयास करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को यहां की शीर्ष कंपनियों के सीईओ के समक्ष भारत की आर्थिक वृद्धि की कहानी पेश की और भारत में कारोबार करने में पेश आ रही रूकावटों को दूर करने का आश्वासन दिया।

अमेरिका के पांच दिवसीय दौरे पर आज न्यूयॉर्क पहुंचे प्रधानमंत्री ने अपने बेहद व्यस्त कार्यक्रम में पिछले 15 महीने में कराधान, आधारभूत संरचना और एफडीआई में तेजी लाने के अपनी सरकार के कदमों का जिक्र करके आर्थिक कूटनीति पर बल दिया और शीर्ष उद्योगों से च्मेक इन इंडियाज् पहल में हिस्सेदार बनने की पुरजोर अपील की। प्रधानमंत्री ने उद्योगों के प्रमुखों के समक्ष सरकार के सुधार एजेंडे की तस्वीर पेश की और आर्थिक माहौल को बेहतर बनाने के लिए अब तक किए गए प्रयासों का उल्लेख किया और विश्वास दिलाया कि कोई भी रुकावट जो नहीं होनी चाहिए, वह नहीं रहेगी।

फार्चून 500 से जुड़ी कई कंपनियों के प्रमुखों से मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारी सरकार निजी सार्वजनिक भागीदारी (पीपीपी) का मजबूती से समर्थन करती है। पिछले वर्ष हमारी वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रही। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में भी 40 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई है। वल्र्ड बैंक, आईएमएफ और मूडीज का कहना है कि आर्थिक माहौल और बेहतर होगा।’ बातचीत के दौरान निवेशकों ने कुछ चिंताएं व्यक्त कीं और कहा कि अभी भी कुछ लालफीताशाही शेष है, विनियमन उम्मीदों के अनुरूप तेज गति से नहीं हो रहा है।