modi1अहमदाबाद,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज गुजरात के एकदिवसीय दौरे पर यहां पहुंच गये और यहां से वह अमूल ब्रांड के उत्पाद बनाने वाले संयंत्रों के उद्घाटन के अलावा किसानों और सहकारी अांदोलन से जुडे नेताओं की एक विशाल रैली को संबोधित करने के लिए बनासकांठा जिले के डीसा के लिए रवाना हो गये। यहां सुबह करीब पौने दस बजे वायु सेना के विशेष विमान से यहां पहुंचे श्री मोदी की अगवानी राज्यपाल ओ पी कोहली ने की।

इस अवसर पर मेयर गौतम शाह तथा कलेक्टर अवंतिका सिंह भी उपस्थित थे। हवाई अड्डे से ही श्री मोदी हेलीकॉप्टर से डीसा रवाना हो गये। प्रधानमंत्री बनने के बाद श्री मोदी आज पहली बार अपने इस गृह प्रदेश में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी के मुख्यालय में भी जायेंगे। श्री मोदी का पिछले करीब चार माह में गुजरात का यह पांचवा दौरा है।

वह बनास डेयरी (जो अमूल ब्रांड के लिए उत्पाद बनाती है और राज्य के मंत्री शंकर चौधरी जिसके अध्यक्ष हैं) के 350 करोड रूपये की लागत से स्थापित चीज और व्हे उत्पादन संयंत्रों और कुछ अन्य सुविधाओं का उद्घाटन करेंगे। वह डीसा हवाई अड्डे के मैदान में दो लाख से अधिक लोगों की एक रैली को भी संबोधित करेंगे जिसमें बडी संख्या में किसान और सहकारी आंदोलन से जुडे नेता भाग लेंगे। इसके बाद वह गांधीनगर के निकट कोबा स्थित भाजपा के प्रदेश मुख्यालय श्रीकमलम आयेंगे।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता भरत पंडया ने आज यूनीवार्ता को बताया कि मई 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद श्री मोदी का वहां का यह पहला दौरा होगा। इस कार्यालय का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर श्री मोदी ने ही फरवरी 2014 में किया था। इसी कार्यालय में गुजरात की लोकसभा की सभी 26 सीटों पर जीत से जुडी रणनीतियां बनी थीं और इसने ही श्री मोदी की सैकडों 3 डी चुनावी रैलियों के प्रसारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। श्री मोदी श्रीकमलम में पार्टी के पदाधिकारियों और नेताओं को संबोधित करेंगे। इसमें जिला स्तर तक के अधिकारी होंगे और इनकी संख्या एक हजार से अधिक होगी।

श्री पंडया ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर अन्य व्यस्तताओं के कारण श्री अमित शाह, जो गुजरात विधानसभा की नाराणपुरा सीट के विधायक भी हैं, इसमें भाग नहीं लेंगे हालांकि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और अन्य मंत्रीगण तथा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जीतु वाघाणी इसमें जरूर शिरकत करेंगे। श्री मोदी का विमुद्रीकरण के फैसले के बाद भी यह पहला गुजरात दौरा होगा। उनकी ओर से डीसा की रैली और भाजपा कार्यकर्ताओं के संबोधन में भी इस मुद्दे को विस्तार से उठाये जाने की संभावना है। ज्ञातव्य है कि गुजरात में विधानसभा चुनाव भी अगले साल के अंत तक होने वाले हैं।

श्री मोदी ने गत 30 अगस्त को सौराष्ट्र मेंं नर्मदा का जल पहुंचाने से जुडी सौनी योजना के उदघाटन के मौके पर कहा था कि वह भविष्य में गुजरात के अधिक दौरे करेंगे। इससे ठीक पहले 15 अगस्त को वह बोटाद के सारंगपुर गये थे जहां उन्होंने दिवंगत स्वामी प्रमुख को श्रद्धांजलि दी थी।

प्रधानमंत्री ने गत 17 सितंंबर को अपना जन्मदिन भी गुजरात में दाहोद के आदिवासियों और नवसारी में दिव्यांग जनों के साथ मनाया था। पिछली बार वह 22 अक्टूबर को वडोदरा आये थे जहां उन्होंने हवाई अड्डे के नवनिर्मित अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल का उद्घाटन किया तथा दिव्यांग जनों को सहायता उपकरण बांटे थे।

Related Posts: