भोपाल,

प्रदेश में 27 नवंबर को छात्रसंघ चुनाव होने जा रहे हैं, बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी से संबंधित 93 कॉलेजों में चुनाव होने जाने थे पर अधिकतर कॉलेजों में बीए, बीकाम एवं बीएससी की कक्षाओं में छात्रों के एडमीशन ही नहीं हुये हैं, इसीलिए पचास के करीब कॉलेजों में ही चुनाव होने हैं.

शनिवार को सीआर पद के लिए नामीनेशन होना हैं, यह प्रक्रिया सुबह 10 बजे से चालू हो जायेगी, जिसके लिए प्रत्याशीयों को एक घंटे का समय दिया गया हैं, सीआर के पर्चे दाखिल करने के बाद उनके द्वारा जमा किये गये दस्तावेजों की जांच की जायेगी, यदि प्रत्याशी चुनाव में अयोग्य सिद्ध होता है तो उनके पर्चे को रिजेक्ट चुनाव अधिकारी द्वारा कर दिया जायेगा, यदि उम्मीदवार चुनाव से वॉक आउट करना चाहता हैं, तो दोपहर 2 बजे से आधे घंटे के समय में वह नामवापसी भी कर सकते हैं.

जिन क्लासों से सीआर के लिए नामीनेशन नहीं भरे जायेगे वहां प्रावीण्य सूची के आधार पर सीआर नियुक्त किए जायेगे.

दिनभर रहेगी गहमागहमी

सीआर के नामीनेशन जमा होने के लिए प्रायवेट कॉलेजों में चहल पहल रहने वाली है, सुबह 7 बजे से ही स्टूडेट परिसर में जुट जायेगे, सीआर पद के लिए चुनाव अधिकारी ने जो सीटे छात्राओं के लिए आरक्षित है वहां लड़कियां ही पर्चा दाखिल कर सकेगी, शहर के केरियर कॉलेज में उपाध्यक्ष एवं अध्यक्ष पद की सीटे छात्राओं के लिए आरक्षित हुई हैं, इन चुनावों में छात्राओं की 50 फीसदी सीटे है, जहां सिर्फ वह ही हिस्सेदारी कर सकती है.

टॉपर बनेंगे सीआर

जिन कक्षाओं में सीआर पद के लिए नामीनेशन दर्ज नहीं होगे वहां चुनाव अधिकारी प्रावीण्य सूची के आधार पर सीआर नियुक्त करेगे, शनिवार शाम तक निर्विरोध चुने गये कक्षाप्रतिनिधी एवं प्रावीण्य सूची के आधार पर चुने गये कक्षाप्रतिनिधीयों की सूची प्रकाशित हो जायेगी जो 27 नवंबर को छात्रसंघ पदाधिकारीयों के लिए वोट देगे.

रविवार को प्रचार

निजी कॉलेजों में प्रचार प्रसार के लिए 26 नवंबर को 5 बजे तक का समय निधार्रित है, लेकिन रविवार को अवकाश होने के कारण सीआर प्रत्याशी अपने क्लास के अन्य छात्र – छात्राओं से वॉटसएप एवं कॉल करके उनके पक्ष में वोट करने की अपील करगे.

नहीं चलेंगी बसें

छात्रसंघ चुनाव 27 नवंबर को होने वाले है, उस दिन ताजुल मस्जिद में इज्तिमा रहेगा, जिसके कारण पुराने शहर के भोपाल टॉकीज, नादरा बस स्टेण्ड सहित रॉयल मार्केट इलाके में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बसे नहीं चलेगी, इस कारण चुनावों में पुराने भोपाल के छात्र भारी ट्राफिक के कारण चुनावों में वोटिंग से वंचित रह जायेगे.

इन कॉलेजों में होंगे चुनाव

शहर के केरियर कॉलेज, सेक्ट कॉलेज, एक्सटॉल, आनंद विहार गल्र्स कॉलेज, मदन महाराज कॉलेज, जवाहर लाल नेहरू, राजीव गांधी कॉलेज , महाराणा प्रताप कॉलेज , इंदिरा प्रियदर्शनी कॉलेज, मिलेनियम कॉलेज, कोपल कॉलेज एवं कमला नेहरू सहित बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से संबंधित अन्य प्रायवेट कॉलेजों में चुनाव होने वाले हैं.

छात्र संगठनों ने संभाला मोर्चा

छात्रसंघठन चुनाव यू तो दलगत राजनीति से अलग होते है पर बीजेपी की छात्र इकाई एबीवीपी और कांग्रेस की स्टूडेट इकाई एनएसयूआई ने स्थापित नेताओं को इन चुनावों में उतारा हैं, छात्रसंघठन के पदाधिकारी चुनाव में नेताओं की तैनाती की मनाही कर रहे हैं पर चुनाव में कांग्रेस एवं भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर हैं.

Related Posts: