श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस से लिया था ऋण

नवभारत न्यूज ग्वालियर,

अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की न्यायालय द्वारा आरोपी मुकेश शर्मा निवासी बरेठा की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायालय द्वारा आरोपी की जमानत खारिज कर दी।

आरोपी द्वारा एक जमानत आवेदन न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया था दरअसल आरोपी द्वारा श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड शाखा मुरैना से फर्जी दस्तावेजों के आधार पर ट्रैक्टर के मालिक से मिलकर कई वाहनों का फाइनेंस कराया था कंपनी द्वारा जांच करने पर पता चला अस्तित्व विहीन वाहनों पर आरोपीगण द्वारा मिलीभगत करके फाइनेंस कराया गया है जिसकी शिकायत कंपनी द्वारा थाना कोतवाली में लगभग २ माह पहले दर्ज कराई गई थी.

जिस पर से थाना कोतवाली पुलिस द्वारा अंतर्गत विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी की थी जिसमें से कई आरोपी जेल में बंद है जिनमें से आरोपी मुकेश निवासी बरेटा द्वारा राकेश मोहन प्रधान अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय मुरैना के समक्ष जमानत याचिका प्रस्तुत की थी जिस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय द्वारा अपराध को गंभीर प्रवृत्ति का मानते हुए जमानत देने से इंकार कर दिया।

Related Posts: