mp8सीहोर / इछावर.  निकटवर्ती तहसील मुख्यालय इछावर में सोमवार को लोकायुक्त भोपाल की टीम ने एक फर्नीचर व्यवसायी की शिकायत पर वन विभाग के रेंजर और ट्रेनी रेंजर को फर्नीचर व्यापारी से 60 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

प्राप्त जानकारी अनुसार इछावर थानान्र्तगत ग्राम सुतारपुरा में फर्नीचर का कारोबार करने वाले मुकेश विश्वकर्मा की दुकान पर पिछले दिनों वनविभाग की टीम द्वारा छापामार कार्रवाई की गई थी. इस दौरान इस टीम द्वारा मुकेश की दुकान से लायसेंस संबंधी आवश्यक कागजात जब्त कर लिए थे. इस कार्रवाई का निपटारा करने और लायसेंस के कागजात वापस मांगने पर रेंजरों द्वारा व्यापारी पर दवाब बनाया जाने लगा. उसे दो बार नोटिस भी जारी किए गए. जिस पर व्यापारी ने रेंजर से इस मामले को लेकर चर्चा की. जिसमें पूरा काम निपटाने और भविष्य में दुकान पर कार्रवाई से बचने के लिए रेंजर द्वारा 1 लाख 70 हजार रुपए की मांग रखी गई. जिसके चलते व्यापारी और रेंजरों के मध्य सौदा 60 हजार रुपए में तय हुआ और व्यापारी ने 29 अक्टूबर को लोकायुक्त कार्यालय भोपाल में उक्त मामले की शिकायत दर्ज कराई.

साथ ही रेंजर और व्यापारी के बीच हुई बातचीत की मोबाइल रिर्काडिंग भी प्रस्तुत की गई. जिस पर पिछले दो दिनों से लोकायुक्त की टीम लगातार इछावर आ रही थी पर रेंजर व्यापारी को नहीं मिल रहा था. आखिरकार सोमवार को रेंजर प्रेमसिंह ठाकुर और ट्रेनी रेंजर पप्पू सिंह चौहान को रेंज ऑफिस में फर्नीचर व्यापारी मुकेश विश्वकर्मा से जब 60 हजार रुपए रिश्वत ले रहा था तभी जाल बिछाए खड़ी लोकायुक्त टीम ने दोनों रेंजरों को 60 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. लोकायुक्त पुलिस की उपरोक्त कार्रवाई डीएसपी जयरामसिंह रघुवंशी के नेतृत्व मेंं की गई. जिसमें इंस्पेक्टर वीकेसिंह, आदित्य सेन,इंस्पेक्टर सुनील जाट भी शामिल थे.