मिशन श्रीलंका की तैयारी

बेंगलूर, 15 जुलाई. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से अनुबंधित क्रिकेटरों के लिए हाल में अनिवार्य किये गये फिटनेस टेस्ट में शनिवार को कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी नहीं पहुंच सके.

श्रृंखलाओं के बीच में खिलाडिय़ों के चोटिल होने की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर बोर्ड बड़े अंतराल पर आयोजित होने वाली श्रृंखलाओं से पहले सभी खिलाडिय़ों के लिए फिटनेस टेस्ट अनिवार्य कर दिया है लेकिन खुद कप्तान धोनी ही इसका पालन नहीं कर रहे हैं. श्रीलंका दौरे पर रवाना होने से भारतीय टीम को चेन्नई में सोमवार और मंगलवार को अभ्यास करना है. इससे पहले शनिवार को खिलाडिय़ों को यहां राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिटनेस टेस्ट में हिस्सा लेना था.

जिन खिलाडिय़ों को टीम में नहीं चुना गया है उन्हें भी फिटनेस टेस्ट में आना था लेकिन हरभजन सिंह इंग्लिश काउंटी टीम के साथ व्यस्त होने के कारण नहीं आये. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी इस मौके पर नदारद थे. चोट व बीमारी से उबर रहे शांतकुमारन श्रीसंत, इशांत शर्मा और युवराज सिंह जैसे अनुबंधित क्रिकेटरों को पहले ही इस टेस्ट से छूट दी गयी थी जबकि भारत-ए टीम में वेस्टइंडीज का दौरा कर लौटे क्रिकेटर भी इस अनिवार्यता से मुक्त हैं. हालांकि एनसीए का कहना है कि खिलाडिय़ों के फिटनेस टेस्ट की कोई समयसीमा तय नहीं की गयी है. माना जा रहा है कि धोनी सीधे चेन्नई में टीम के साथ जुड़ेंगे और वहीं फिटनेस टेस्ट देंगे. बीसीसीआई के सचिव संजय जगदाले ने भी पिछले हफ्ते कहा था कि धोनी अपनी सुविधानुसार फिटनेस टेस्ट देंगे.

ब्रेट ली से खूब मजे लेते थे सचिन तेंदुलकर

नई दिल्ली. ब्रेट ली के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के सीनियर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने उनकी तारीफ करते हुए कहा है कि तेज गेंदबाज के खिलाफ खेलने में उन्हें लुत्फ आता था. तेंदुलकर ने ट्विटर पर अपने प

Related Posts: