13bjp1भोपाल,13 मार्च, नभासं. गुरुवार को जिला पंचायत अध्यक्ष भाजपा का है या कांग्रेस का इसे लेकर दिन भर चली जद्दोजहद के बाद शाम को अपने को कांग्रेसी बताने वाले मनमोहन नागर शुक्रवार को फिर भाजपा पहुंच गए.

गुरूवार को जिस नागर को अपने पाले मेंं लाने के लिए बीजेपी कांग्रेस के क ार्यकर्ता एक दूसरे से भिंड़ तक गए थे शाम को उन्हीं ने आखिरकार भाजपा का दामन थाम लिया. शुक्र वार शाम भाजपा कार्यालय पहुंच कर नागर ने कहा कि मेंं 12 मार्च को प्रात: 7.30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के समक्ष सदस्यता ग्रहण करके पार्टी का सदस्य बना हं’ और भाजपा के ही समर्थन से जिला पंचायत में निर्विरोध निर्वाचित हुआ. गुरूवार को दिनभर चली सियासी नौटंंकी पर नागर ने कहा है कि, 12 मार्च को चुनाव के पश्चात मै ‘ भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंचा वहां पं. दीनदयाल उपाध्याय और डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के प्रतिमा पर माल्यार्पण क रने के पश्चात पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर अपने घर पहुंचा. इस बीच कांग्रेस के नेताओं ने बलपूर्वक मुझे कांग्रेस कार्यालय ले जाकर बयान दिलाए. जिस समय मेरा मानसिक संतुलन ठीक नहीं था. मुझसे घबराहट में जो कुछ भी हुआ वह दु1द है. नागर ने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी का सदस्य हंू और पार्टी की रीति नीति से प्रभावित होकर सदस्यता ग्रहण की है.

इस अवसर पर पार्टी के वरिष्ठ नेता अरविन्द भदौरिया, प्रदेश प्रवक्ता रामेश्वर शर्मा वरिष्ठ नेता भागीरथ पाटीदार और इक बाल पटेल सहित बडी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे. राजनीतिक विश£ेषको ं की माने ं तो गुरूवार के घटनाक्र म को लेकर इस घटना से बीजेपी के नेता अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे थे. दो तीन दिन से बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा, विष्णु खत्री,भक्तपाल,अरविंंद भदौरिया एवं संगठन के वरिष्ठ नेताओं के संंपर्क रहने के बाद नागर ने चुनाव जीतने के लिए बीजेपी से समर्थन लिया और धोखा दे दिया था. वहीं उन्होंने शुक्रवार खुद नागर ने भाजपा पर यह आरोप भी लगाए थे कि,भाजपा नेता मुझे मुख्यमंं मंत्री से मुलाकात क राने की बात कहकर जबरदस्ती ले गए थे.

पिस्तौल अड़ाकर जान से मारने की धमकी भी दी. ऐसे मेंं भाजपा दफ्तर जाने और प्रतिमा पर माल्यार्पण के अलावा कोई चारा नही ं था.Ó ऐसे मे ं भाजपा की साख पर बट्टा लगना तय था. चौंकाने वाली बात यह है कि हाई वोल्टेज ड्रामे के बावजूद भाजपा अपनी रणनीति के चलते नागर को फिर से पार्टी मे ं ले आई.

Related Posts: