Patidar community agitationअहमदाबाद, 26 अगस्त. गुजरात में कल रात हुई जबरदस्त हिंसा, तोडफोड और आगजनी की घटनाओं के बाद आज एक बार फिर ऐसी घटनाओं का दौर शुरू हो गया है जबकि अहमदाबाद में मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र घाटलोडिया समेत नौ क्षेत्रों तथा उनके गृह जिले पाटन के अलावा सूरत और महेसाणा में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य की जनता से शांति बनाये रखने की अपील की है। गुजराती में जारी अपने संदेश में श्री मोदी ने कहा कि सरदार पटेल और महात्मा गांधी की भूमि गुजरात में कल शाम से जो माहौल बना है और इसमे हिंसा का आश्रय लिया जा रहा है। सभी जानते हैं कि हिंसा के जरिये किसी समस्या का हल नहीं हो सकता और इससे कुछ मिलता नहीं।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में किसी भी समस्या का हल बातचीत से हो सकता है। इस समय एक ही मंत्र है शांति। मै गुजरात के सभी भाई बहनों को शांति रखते हुए गुजरात को विकास की नयी ऊंचाइयों पर ले जाने के प्रयासों में सहभागी बनने का आग्रह करता हूं।

उधर, ताजा दौर की हिसक घटनाओं में उत्तर गुजरात के इडर में भीड ने मंत्री रमनलाल वोरा के कार्यालय, अरवल्ली में स्थानीय भाजपा विधायक के कार्यालय, अहमदाबाद के निकोल में सरकारी जनसेवा केंद्र तथा वहां खडी गाडियों, अखबारनगर में एक पुलिस चौकी तथा वाहन में आग लगा दिया, कुछ अन्य क्षेत्रों से भी इस तरह के घटनाओं की सूचना मिली है।

भीड़ ने राजकोट के ग्रामीण एसपी गगनदीप गंभीर की गाडी पर 150 फीट रिंग रोड के निकट तथा गांधीनगर के कलोल में एक डीएसपी अधिकारी पर पथराव किया गया। सूरत के उधना एक गोदाम और वहां खडी गाडियों तथा पालनपुर में एसटी बस डिवीजन में आग लगा दी गई.

 

Related Posts: