पहले भी अर्धनग्र होकर कर चुके हैं प्रदर्शन

  • सरकार से मांग रहे हैं काम

भोपाल,

सर्वेक्षण सहायक संघ अपनी मांगों को लेकर फिर से प्रदर्शन करने की तैयारी में है. संघ द्वारा 25 फरवरी को सरकार के खिलाफ अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया गया था.

संघ के प्रांताध्यक्ष राम रतन लोहिया का कहना है कि नियम पुस्तिका के अनुसार कार्य करवाए जाएं एवं नियमित रूप से वेतन दिया जाए. लोहिया के अनुसार योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग ने वर्ष 2014 मैं एमपी ऑनलाइन के माध्यम से 6603 पदों की परीक्षा आयोजित कर मेरिट के आधार पर सर्वेक्षण सहायकों को चयनित किया गया था परंतु पिछले 3 सालों से कोई भी काम सहायकों को नहीं दिया गया है. सरकार का यह कदम गलत है.

जब सरकार रोजगार सहायकों को स्थाई कर सकती है जो बिना परीक्षा के भर्ती हुए हैं तो सर्वेक्षण सहायकों को क्यों नहीं जबकि सर्वेक्षण सहायक परीक्षा पास कर कर भर्ती हुए हैं. विभाग द्वारा सर्वेक्षण सहायकों के कार्य जो कि ठेकेदारों और एजेंसियों द्वारा करवाए जाते हैं, 13 वे वित्त आयोग के अंतर्गत कराया जाने वाला बिजनेस रजिस्टर का कार्य, विभिन्न कृषि फसलों के क्षेत्रफल उत्पादन मूल्य के आंकड़ों का संग्रहण, कृषि उत्पादन लागत का अध्ययन विभिन्न उद्योगों का मासिक उत्पादन रोजगार आदि के आंकड़ों का संग्रहण कृषि उपज मंडी में कृषि उपजों की मासिक आवक एवं भाव का संग्रहण, पशु गणना, कृषि संगणना लघु सिंचाई संगणना आदि का कार्य जन्म मृत्यु पंजीयन आंकड़ों का संग्रह समय-समय पर करवाए जाने वाले अन्य सर्वेक्षणों का कार्य आदि सर्वेक्षण सहायकों से कराए जा सकते हैं.

Related Posts: