सीमेंट दुकान का एजेंट बनकर गया था युवक,
सीमेंट पहुंचने पर हुआ खुलासा

नवभारत न्यूज बुरहानपुर,

इंदिरा कॉलोनी में फिल्मी स्टाइल में ठगी का मामला सामने आया है। अज्ञात युवक निर्माणाधीन मकान मालिक के पास पहुंचा और बोला मैं राजपुरा की गुडलक सीमेंट दुकान से आया हूं। आपके यहां सीमेंट की बोरी आ रही हैए उसका 29 हजार का पैमेंट दे दीजिए।

मकान मालिक ने रुपए दिए और युवक बाद में सीमेंट दुकान पर ऑर्डर दे गया कि कॉलोनी में सीमेंट पहुंचा देना। जब सीमेंट मकान मालिक के यहां पहुंचकर मजदूर ने रुपए मांगे तो मकान मालिक ने विवाद किया कि रुपए जब दे दिए तो फिर दुबारा क्यों दू। बाद में मामला थाने पहुंच गया।

इंदिरा कॉलोनी में पब्लिक स्कूल के पास रतनलाल वैष्णव का मकान बन रहा है। यहां युवक सीमेंट दुकान का एजेंट बनकर पहुंचा था। उसने सीमेंट का ऑडर लिया और नगद 29 हजार रुपए लेकर चला गया। वहं राजपुरा में गुडलक सिमेंट दुकान पहुंचा और 80 बोरी सीमेंट पहुंचाने के लिए कहा।

उसने कहा कि रुपए वहीं मिल लाएंगा। चालक दोपहर 3 बजे करीब मौके पर पहुंचा और बील देकर सीमेंट के रुपए मांगे। तब रतनलाल का उससे विवाद हुआ। चालक ने दुकान संचालक को फोन पर जानकारी दी। जब मालिक भी वहां पहुंच गया।

आधे घंटे तक दोनों में बहस चली। बहस के बाद मामला लालबाग पुलिस स्टेशन पहुंचा। पुलिस ने दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद लिखित शिकायत के लिए कहा। लिखित शिकायत पुलिस को दी हैए लेकिन मामले में अभी प्रकरण दर्ज नहीं हुआ है।

एसआई डीएस लोवंशी ने बताया कि शिकायत पर जांच की जा रही है। जानकारी लेने के बाद ही प्रकरण दर्ज होगा। ठगी को लेकर लोग अब भी सतर्क नहीं है। इसके पूर्व भी बैंकों के बाहर लोगों के साथ ठगी हो चुकी है। कई बार तो पेंशन लेने आए बुजुर्गों को सहारा देने के नाम पर रुपए ठगे जा चुके हैं।

Related Posts: