saniaहुआ हिन,  दुनिया की नंबर एक युगल खिलाड़ी और आस्ट्रेलियन ओपन युगल चैंपियन सानिया मिर्जा को जापान के खिलाफ फेड कप के एशिया ओसनिया जोन ग्रुप एक के पूल ए मुकाबले में उलटफेर का शिकार होना पड़ा जिससे मुकाबले में भारत 1-2 से पराजित हो गया.

भारत की नंबर एक महिला एकल खिलाड़ी अंकिता रैना ने विश्व की 56वीं रैंकिंग की खिलाड़ी नाओ हिबिनो के खिलाफ शानदार जीत दर्ज कर टीम के लिये अंक बटोरकर बराबरी दिलाई लेकिन युगल में दुनिया की शीर्ष खिलाड़ी सानिया और प्रार्थना थोंबारे की जोड़ी महिला युगल का मुकाबला हार गई जिससे भारत जापान से 1-2 से पराजित हो गया.

देश की नंबर एक महिला एकल खिलाड़ी और विश्व में 307वीं रैंकिंग की अंकिता ने हिबिनो को लगातार सेटों में 6-3, 6-1 से हराकर भारत को कुछ राहत दिलाई. इससे पहले प्रार्थना थोंबरे को अपने पहले एकल मुकाबले में अपने से निम्न रैंकिंग की 523वें नंबर की खिलाड़ी इरी हुजुमी के हाथों 2-6, 1-6 से शिकस्त झेलनी पड़ी और भारत 0-1 से पिछड़ गया. अंकिता ने दूसरे महिला एकल में अंक बटोरा और 1-1 से बराबरी दिलाई लेकिन जिस मुकाबले में भारत निश्चित ही बढ़त की उम्मीद कर रहा था उसमें सानिया और प्रार्थना ने निराश किया. सानिया-प्रार्थना की जोड़ी को जापान की शुको आयोमा और हुजुमी की जोड़ी के हाथों 5-7, 3-6 से लगातार सेटों में उलटफेर का शिकार हो गई.

2015 में यूएस ओपन के बाद से कोई मैच नहीं हारने वाली और इस वर्ष लगातार तीन खिताब ब्रिसबेन, सिडनी और आस्ट्रेलियन ओपन में खिताब जीतने वाली सानिया की मौजूदगी से भारत के पास जापान को हराने का बेहतरीन मौका था. इससे पहले भारत को मेजबान थाईलैंड के हाथों 0-3 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी. भारत अपने अगले मुकाबले में उज्बेकिस्तान के खिलाफ उतरेगा.

Related Posts: