sensexमुंबई,  अमेरिकी फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों में बढ़ोतरी करने के संकेत से एशियाई बाजारों की गिरावट के दबाव में लगभग पूरे दिन बिकवाली से जूझता रहा घरेलू शेयर बाजार अंत तक संभल नहीं पाया और आखिर में करीब डेढ़ फीसदी लुढ़ककर बंद हुआ।

बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 16 फरवरी के बाद की एक दिन की सबसे बड़ी 371.16 अंक (1.46 फीसदी) की गिरावट लेकर 25 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 24966.40 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी करीब छह सप्ताह की सबसे बड़ी 101.40 अंक (1.31 फीसदी) की एकदिनी गिरावट के साथ 7700 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 7615.10 अक पर रहा।

अमेरिका में पिछले सप्ताह सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के जारी आंकड़ों के उम्मीद से बेहतर रहने के बाद फेडरल रिजर्व के अधिकारियों के उस बयान से एशियाई बाजारों में कोहराम कच गया जिसमें उन्होंने संकेत दिया है कि जीडीपी के मजबूत आंकड़ों को देखते हुये फेड रिजर्व अगले महीने की शुरुआत में ब्याज दरों में बढ़ोतरी करने पर विचार कर सकता है।

Related Posts: