Volkswagenलॉस एंजिल्स,  उत्सर्जन छुपाने के मामले में विवादों में घरी यूरोप की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी फॉक्सवैगन को अमेरिका के कैलिफोर्निया में 8.6 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त जुर्माना देना होगा।

इससे पहले कंपनी की अमेरिकी अधिकारियों से हुई बातचीत की प्रक्रिया के बाद 14.7 अरब डॉलर का जुर्माना तय हुआ था।

कैलिफोर्निया के अटॉर्नी जनरल कमल हैरिस ने गुरुवार को जारी बयान में बताया कि अनुचित प्रतिस्पर्धा कानून समेत अन्य संघीय कानूनों के तहत फॉक्सवैगन पर 8.6 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त जुर्माना लगाया गया है। उन्होंने कहा, “हमें आने वाली पीढ़ियों के लिए पर्यावरण का संरक्षण करना होगा और वायु को प्रदूषित करने तथा कानून तोड़ने वालों को उचित दंड देने होंगे।”

अदालती कागजातों के अनुसार, इस अतिरिक्त जुर्माने में 7.6 करोड़ डॉलर मामले की जाँच तथा सुनवाई के खर्च के रूप में श्री हैरिस के कार्यालय को दिया जायेगा। शेष एक करोड़ डॉलर का जुर्माना कंपनी की उत्सर्जन छिपाने वाली तकनीक की पहचान से संबंधित अध्ययन के लिए सरकारी एजेंसियों तथा विश्वविद्यालयों को अनुदान देने के लिए खर्च किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि फॉक्सवैगन ने अपनी डीजल कारों में एक ऐसा सॉफ्टवेयर लगाया था, जो प्रदूषण जाँच के दौरान उत्सर्जन को कम करके दिखाता था। यह मामला सामने आने के बाद कंपनी ने बाद में खुद भी इसे स्वीकार किया। इस प्रकरण से वैश्विक स्तर पर कंपनी की छवि धूमिल हुई है।

अमेरिका में पिछले सप्ताह इस मामले में कंपनी पर कुल 14.7 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया गया था। इसके अलावा न्याय विभाग के समझौते के तहत कंपनी को करीब 50 लाख प्रभावित वाहन या तो उपभोक्ताओं से वापस खरीदने होंगे या उनसे सॉफ्टवेयर हटाना होगा। उसे पर्यावरण और उपभोक्ता मुआवजा फंड भी तैयार करना होगा।

Related Posts: