नयी दिल्ली ,  भारत एवं बंगलादेश ने आज परस्पर कनेक्टिविटी को विस्तार देते हुए कोलकाता से बंगलादेश के दक्षिण-पश्चिम औद्योगिक शहर खुलना के बीच नयी ट्रेन सेवा बंधन एक्सप्रेस और दो पुलों का उद्घाटन किया।

नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, ढाका में बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नई ट्रेन सेवा और भैरब एवं टिटास नदियों पर दोनों पुलों का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री के साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी उपस्थित थे।

ये दोनों पुल करीब दस करोड़ डॉलर की लागत से दोहरी ब्रॉडगेज लाइन के हिसाब से बनाए गये हैं। जिनसे बंगलादेश के रेल नेटवर्क को मजबूत करने में मदद मिलेगी। इनसे ढाका से चटगांव एवं अखौरा की कनेक्टिविटी सुधरेगी और पूर्वोत्तर के लिये बंगलादेश होकर रेल परिवहन की सुविधा का मार्ग प्रशस्त होगा।

तीनों नेताओं ने कोलकाता के चितपुर में अंतर्राष्ट्रीय यात्री टर्मिनस का भी शुभारंभ किया जिससे दोनों देशों के रेलयात्रियों को पेट्रापोल में आव्रजन जांच के लिये असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा। कोलकाता, खुलना और ढाका में ही

आव्रजन एवं सीमा शुल्क जांच प्रक्रिया पूरी होने से यात्रा के समय में करीब तीन घंटे की कमी आएगी। कोलकाता और ढाका के बीच पहली ट्रेन सेवा मैत्री एक्सप्रेस का शुभारंभ 2009 में हुआ था। बंधन एक्सप्रेस को शुरू करने का समझौता जून 2015 में श्री मोदी की ढाका यात्रा के दौरान हुआ था।

Related Posts: