bpl2भोपाल,  एमपीनगर जोन 1 में स्थित मिरेकल अस्पाताल में एक चार साल के बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई. इस घटना से गुस्साए मृतक के परिजनों नें डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही बरतनें का आरोप लगाते हुए अस्पताल में जमकर हंगामा किया.

सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझा बुझाकर मामले को शांत कराया. जानकारी के अनुसार मो. अलीम निवासी बाग उमराओदूलहा लेथ मशीन का काम करते है.

उनका 4 वर्षीय बेटे मुसैद पिछले कुछ दिनों से बीमार था. इलाज कर रहे डॉक्टर के कहने पर वह मुसेद को लेकर विजय स्तम्भ के पीछे, एमपीनगर जोन-1 में स्थित मिरेकल अस्पताल में ले गए. परिजनों के मुताबिक अस्पताल ले जाने तक उनका बेटा ठीक-ठाक था.

डॉक्टरों ने इलाज शुरु किया तो बच्चे की हालत बिगडऩे लगी. डॉक्टरों ने उसे वेंटीलेटर पर भी रख दिया. लेकिन दो घंटे बाद ही बच्चे की मौत हो गई. परिजनों का आरोप है की डॉक्टरो द्वारा गलत इंजेक्शन लगाने के कारण बच्चे की मौत हुई है.

बच्चे की मौत से नाराज परिजनों के हंगामा करने की सूचना मिलते ही एमपी नगर पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने समझा-बुझाकर परिजनों को बच्चे के शव के साथ अस्पताल से रवाना किया. परिजनों के मुताबिक क्यों कि पोस्टमार्टम में मासूम बच्चे के शरीर की काटा-पीटी होती इसलिए उनहोंने इस मामले में अस्पताल के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं कराई है.

Related Posts:

सभी जिला मुख्यालयों पर खुलेंगे मॉडल आईटीआई
स्वाइन फ्लू: जबलपुर लेब की बढ़ाई जांच क्षमता
भाजपा ने मनाया पं. दीनदयाल उपाध्याय का जन्मदिन
मध्यप्रदेश में महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में प्रभावी कार्य: मेनका गांधी
शहर में हुई गीत तेरे बिना की लांचिग
महिलाओं को मतदाता-सूची में नाम जुड़वाने करें प्रोत्साहित : निर्वाचन आयुक्त