nawazइस्लामाबाद,   पाकिस्तान में पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल में पिछले साल 16 दिसंबर को हुए नृशंस आतंकवादी हमले की बरसी पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि वह हमले में मारे गये बच्चों और शिक्षकों के खून के हर कतरे का बदला लेंगे।

पेशावर के स्कूल में गत साल हुये भीषण जनसंहार ने एकबारगी पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया। उस हमले में 134 बच्चों समेत 153 लोग मारे गये थे। इस हमले के बाद ही पाकिस्तान ने आतंकवादियों के खिलाफ कई कड़े कदम उठाये। पाकिस्तान में फांसी की सजा पर लगी रोक हटायी गयी,आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए संविधान में संशोधन किया गया और पाक सेना ने आतंकवादियों की धर पकड़ के अभियान में तेजी लाते हुए एक लाख से अधिक लोगों को पकड़ा आैर साथ ही कबाइली इलाकों में सैन्य अभियान में तेजी लायी।

स्कूल में आयोजित समारोह का शुभारंभ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ , सैन्य प्रमुख राहिश शरीफ, गृहमंत्री चौधरी निसार अली खान और वित्त मंत्री इशाक डार के पहुंचने पर किया गया । इन लोगों के समारोह स्थल पर पहुंचते ही स्कूल के छात्रों ने पवित्र कुरान की आयतें पढ़ीं और इसके बाद राष्ट्रगान गाया। सैन्य प्रमुख ने समारोह स्थल के मुख्य दरवाजे पर पीड़ित परिवारों की अगवानी की।

इस मौके पर श्री शरीफ ने कहा,“ हमारे बच्चों का खून ही आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई ही कहानी कहेगा। हम हमले में जान गंवाने वाले बच्चों के खून के हर कतरे का बदला लेंगे। मैं चाहता हूं कि हम जब भी इन बच्चों और उनके शिक्षकों के बलिदान को याद करें तो हमें यह भी साथ ही याद करना होगा कि पूरे देश से अज्ञानता के अंधकार को भी मिटाना है।”