lahoreलाहौर,  पाकिस्तान के लाहौर में रविवार शाम बच्चों के एक पार्क में हुए फिदायीन हमले में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में महिलाओं और बच्चों की तादाद ज्यादा है. धमाके में 100 लोग जख्मी भी हुए हैं.
रिपोट्र्स के मुताबिक मरने वालों की संख्या इससे ज्यादा भी हो सकती है. भारत ने पाक में हुए इस आत्मघाती हमले की कड़ी निंदा की है.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्विटर पर लिखा, ‘लाहौर में धमाके के बारे में पता चला. मैं इसकी कड़े शब्दों में निंदा करता हूं. मारे गए लोगों के परिवारवालों के प्रति मेरी संवेदना है और घायलों के लिए प्रार्थना करता हूं. उधर, लाहौर के एसपी डॉक्टर मुहम्मद इकबाल के मुताबिक, हमला शहर के पॉश इलाके गुलशन-ए-इकबाल पार्क में हुआ. संडे और ईस्टर की वजह से पार्क में भीड़ भी खूब थी. जिनमें महिलाओं और बच्चों की बड़ी तादाद थी.

चश्मदीदों के मुताबिक, पार्क में कई एंट्री गेट्स हैं, लेकिन सिक्यॉरिटी के कोई इंतजाम नहीं है. डॉन ने एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से बताया कि ईस्टर की वजह से काफी भीड़ थी. इकबाल टाउन के पुलिस अधीक्षक मोहम्मद इकबाल ने कहा कि यह एक आत्मघाती हमला था. रिपोर्ट में कहा गया है कि पार्क के आस-पास कोई सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं था. बचाव अधिकारी और पुलिस लाहौर के जाने-माने आवासीय क्षेत्र में स्थित विस्फोट स्थल पर पहुंचे.

शहर के सभी सरकारी अस्पतालों में एक आपातकाल घोषित किया गया है और इलाके को पुलिस की भारी टुकड़ी ने घेर लिया है.

Related Posts: