01cm1मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपने निवास पर 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को दवा पिलाकर पल्स पोलियो अभियान की शुरूआत की.मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पोलियो ड्राप के दो बूंद जिंदगी के दो बूंद है.
चौहान ने भारत को पोलियोमुक्त देश बनाने में चिकित्सकों, विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित अन्य स्वयंसेवी, सामाजिक, राजनीतिक संगठनों और जनप्रतिनिधियों के योगदान की सराहना की. इस अवसर पर रोटरी इंटरनेशनल के प्रोग्राम डायरेक्टर डॉ. एच. बसु, संचालक स्वास्थ्यडॉ. नवनीत कोठारी, एन.एच.आर.एम. संचालक .फैज अहमद किदवई, डॉ. संतोष शुक्ला और डॉ. वीणा सिन्हा उपस्थित थे.

45 हजार बूथों पर पिलाई गई दवा
मध्य प्रदेश के समस्त जिलों में 45 हजार से अधिक बूथ पर लगभग 91 हजार प्रशिक्षित टीम द्वारा बच्चों को पल्स पोलियो की दवा पिलाई गई. हलांकि पूर्व में दवा पिलाने के लिए सरकार ने 1 करोड़ 15 लाख से अधिक बच्चों को दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया.सभी केन्द्रों पर स्वास्थ्य अमले ने कतार में सभी बच्चों को पोलियो की खुराक शांतिपूर्वक तरीके से पिलाई.

भोपाल जिले में 17 सौ बूथ बनाये थे
आर.आई.पल्स पोलियो अभियान के द्वितीय चरण की तिथि को परिवर्तित कर अब रविवार को आयोजित किया गया.आंगनवाढ़ी केन्द्रों एवं शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में पिलाई जायेगी.इस हेतु भोपाल जिले में लगभग 1700 बूथ बनाये गये हैं.इन पर 4882 कर्मचारियों की डयूटी लगाई गई हैं. सभी बूथों पर सुबह से शाम पांच बजे तक बच्चों को पोलियों की दवा पिलाई गई.

 

Related Posts: