union_budget1नयी दिल्ली,   मोदी सरकार ने अपने दूसरे पूर्ण बजट में आधारभूत ढांचे, ग्रामीण विकास, कृषि, स्वास्थ्य, और कौशल विकास पर जोर देते हुये देश को विकास पथ पर तेजी से आगे ले जाने की रूप रेखा पेश की है।

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज लोकसभा में वर्ष 2016-17 का आम बजट पेश करते हुये विकास का नौ सूत्री एजेंडा रखा जिसमें कृषि, ग्रामीण, सामाजिक,शिक्षा, कौशल विकास, रोजगार सृजन से उत्पादक अर्थव्यवस्था, ढांचागत क्षेत्र में निवेश, वित्तीय सुधार, प्रशासनिक सुधार, सरल कारोबारी माहौल, वित्तीय अनुशासन और कर सुधार पर जोर देते हुये वित्तीय प्रावधान किये हैं।

बजट में आयकर स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है जिससे वेतनभोगियों को कोई राहत नहीं मिली है लेकिन आवास भत्ते पर मिलने वाली छूट सीमा को 24 हजार रुपये से बढाकर 60 हजार रुपये वार्षिक कर दी गयी है।

Related Posts: