भोपाल,  बजरंग दल द्वारा सोमवार को अनुसूचित जनजाती के प्रमुख सचिव अशोक शाह के निवास स्थित चार इमली पर उनके द्वारा भगवान श्रीराम एवं वीर हनुमान दलितों के भगवान नहीं हैं दिए गए विवादित बयान पर प्रर्दशन किया गया.

उनका कहना था कि यह विवादित बयान है जिससे हिंदुओं की आस्था को ठेस पहुंची है. यह बयान हिंदुओं में बंटवारे वाला विवादित बयान है. मप्र शासन के एक वरिष्ठ पद पर कार्यरत होने के बाद अशोक शाह का इस तरह का बयान देना निंदनीय है.

इस प्रकार की बयान बाजी कर मप्र शासन द्वारा खण्डन न किए जाने से एक तरफ अशोक शाह को सह मिल रही है तो दूसरी तरफ हिन्दु समाज की धार्मीक भावनाएं आहत हो रही हैं. बजरंग दल द्वारा प्रर्दशन कर मौके पर मौजूद थाना प्रभारी हबीबगंज भोपाल को आवेदन दे मांग की गई है कि इस तरह का गिरजिम्मेदाराना एवं बेतुका बयान देने वाले तथा हिंदुओं में बंटवारा की दुषित मानसिकता रखने वाले पदाधिकारी पर यथोचित कार्यवही की जानी चाहिए.
प्रर्दशन के दौरान बजरंग दल के राजेश साहू के नेतृत्व मेंं बड़ी संख्या में बजरंगी मौजूद थे. मौके पर प्रर्दशन की सूचना से पहले से ही पुलिस बल मौजूद था.

Related Posts: