delhiनयी दिल्ली,  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं ने बटला हाउस मुठभेड़ मामले में कांग्रेसी नेताओं के बयानों के विरोध में आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के आवास 10 जनपथ पर जोरदार प्रदर्शन किया। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय की अगुआई में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष के अावास पर प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की ।

कार्यकर्ताओं का आरोप था कि बटला हाऊस मुठभेड़ मामले में कांग्रेस नेता झूठा प्रचार करने में जुटे हुये हैं। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने पिछले सप्ताह कहा था कि 2008 में हुई बटला हाऊस मुठभेड़ फर्जी थी। उन्होंने इसके लिए भाजपा को न्यायिक जांच की चुनौती भी दी थी । श्री उपाध्याय ने कहा कि कांग्रेस और विशेषकर श्रीमती गाँधी आतंकवाद को लेकर दोहरा चरित्र दिखाते हैं।

उनका कहना था कि जब बटला हाऊस मुठभेड हुई थी तो कांग्रेस नेता ने इसे फर्जी मुठभेड़ बताया था। ओखला के जामिया नगर में सितम्बर 2008 में हुई मुठभेड़ में इंडियन मुजाहिदीन के दो संदिग्ध आतंकवादी और एक पुलिस अधिकारी की मौत हुई थी । बटला हाऊस का मुख्य आरोपी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट की एक वीडियो में नजर आया है। उसने कहा है कि वह बटला हाऊस से आया है और हिन्दुस्तान को तबाह कर देगा ।

भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना था कि इस मुठभेड़ को न केवल गलत तथ्यों के साथ पेश किया जा रहा है, बल्कि इसमें मारे गये दिल्ली पुलिस के निरीक्षक मोहन चंद शर्मा का अपमान भी किया जा रहा है। कांग्रेस को झूठा प्रचार करने पर शर्म आनी चाहिये। कांग्रेस शहीदों का अपमान कर रही है और आतंकवादियों की सराहना। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

कांग्रेस महासचिव के बयान के एक दिन बाद ही पूर्व केन्द्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने इस दावे को खारिज कर दिया था और कहा था कि यह मुठभेड फर्जी नहीं थी। उन्होंने कहा, “ मैं पहले भी कह चुका हूं कि यह मुठभेड़ फर्जी नहीं थी और अगर कोई ऐसा दावा करता है तो उसे साबित करना उसकी जिम्मेदारी है। ”