मुंबई,

इंडियन ओवरसीज बैंक की सरप्लस फंड से घाटे की भरपाई की योजना है। इंडियन ओवरसीज बैंक के पास शेयर प्रीमियम का 7,650.06 करोड़ रुपये का फंड है। इंडियन ओवरसीज बैंक शेयर प्रीमियम से 6,978.94 करोड़ रुपये घाटे की भरपाई करेगा। पिछली 13 तिमाहियों में इंडियन ओवरसीज बैंक को 8,762 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है।

वहीं सितंबर तिमाही में इंडियन ओवरसीज बैंक की लोन बुक 5.7 फीसदी गिरकर 1.4 करोड़ रुपये रही थी। इंडियन ओवरसीज बैंक के एमडी और सीईओ, आर सुब्रमण्यकुमार ने कहा कि बैंकिंग एक्ट में शेयर प्रीमियम के इस्तेमाल की इजाजत है और इसी कानून के तहत कदम उठाया जा रहा है।

शेयर प्रीमियम के इस्तेमाल के लिए शेयरधारकों से भी मंजूरी ली जाएगी। शेयर प्रीमियम के इस्तेमाल से बैलेंसशीट में मजबूती आएगी और घाटे से मुनाफे में आने की उम्मीद है। बैंक के नए एनपीए में गिरावट देखने को मिल रही है। आगे बैंक के एसेट क्वालिटी में सुधार की पूरी उम्मीद है।

Related Posts: