भोपाल,

नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक एसके बन्सल ने 16 अप्रैल को क्षेत्रीय कार्यालय, भोपाल में कार्यभार ग्रहण किया. बन्सल के पास वित्त तथा बैंकिंग गतिविधियों का तीन दशक से अधिक कार्यकाल का विस्तृत अनुभव है.

भोपाल में कार्यभार ग्रहण करने के पूर्व उन्होंने नाबार्ड के मुम्बई स्थित प्रधान कार्यालय में वित्त विभाग का नेतृत्व किया तथ नाबार्ड के संपूर्ण संसाधन, प्रबंधन, वित्तीय आयोजना, ट्रेजरी ऑपरेशन, विदेशी विनिमय प्रबंधन तथा निवेशकों से संबंधित मामलों का दायित्व संभाला.

बन्सल ने चार्टर्ड एकाउन्टेंट तथा कॉस्ट एकाउन्टेंट की योग्यता के साथ-साथ, आइसीएफएआइ हैदराबाद से ट्रेजरी तथा विदेशी विनिमय प्रबंध में डिप्लोमा भी किया है. इसके पूर्व बन्सलन ने नवगठित छत्तीसगढ़ राज्य के नाबार्ड क्षेत्रीय कार्यालय का भी नेतृत्व किया था.

छत्तीसगढ़ राज्य में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने ग्रामीण जनता विशेषकर लघु औेर सीमान्त किसानों के लिए साख का प्रावधान तथा ग्रामीण आधारभूत संरचना के हितधारकों के लिए सराहनीय काम किया, उनके अन्य उल्लेखनीय योगदानों में बैंकिंग वित्त को बढ़ावा, क्षेत्रीय ग्रामणी बैंकों तथा सहकारी संस्थाओं का विकास, वित्तीय समावेशन बेहतर बनाना तथा राज्य में आजीविका के अवसर बढ़ाना शामिल हैं. राज्य के मार्केटिंग फेडरेशन को साख सुविधा प्रदान करने के लिए विशेष उत्पाद की शुरुआत भी इन्हीं के कार्यकाल में की गई.

बन्सल ने नाबार्ड के जयपुर क्षेत्रीय कार्यालय में भी कार्य किया जहां उन्होंने राज्य की ग्रामीण वित्तिय संस्थाओं के पर्यवेक्षण का महत्वपूर्ण दायित्व निभाया.

नाबार्ड के प्रधान कार्यालय में वित्त विभाग का नेतृत्व करते हुए उन्होंने रु. 57000 करोड़ के ट्रेजरी पोर्टफोलियो को सक्रिय रूप से प्रबंधित किया. नाबार्ड के लघु तथा दीर्घकालिक पुनर्वित्त संबंधी क्रियाकलापों के लिए एक वर्ष में ही रू. 200000 करोड़ के संसाधनों वित्त की व्यवस्था भी की.

Related Posts: