Athletics - Women's 400m Finalरियो डि जेनेरो,  बहामास की महिला एथलीट शाॅने मिलर ने रियो ओालंपिक में महिलाओं की 400 मीटर की फाइनल रेस में फिनिश लाइन तक पहुंचने के लिये लंबी छलांग लगा दी और अपने इस प्रदर्शन की बदौलत स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहीं।

22 वर्षीय मिलर की यह चौंकाने वाली रेस काे देखकर दर्शक भी तंग रह गये।
मिलर ने रेस की शुरुआत तो तेज की लेकिन फिनिश लाइन तक आते आते स्वर्ण पदक की दावेदार अमेरिका की एलिसन फेलिक्स जीत के बहुत करीब पहुंच गयीं।

एक बार तो दोनों धावक एक साथ फिनिश लाइन तक पहुंचने वाली थीं।
लेकिन इसी बीच बहामास की मिलर ने लंबी छलांग लगाते हुये 49.44 सेकेंड में फिनिश लाइन को पार ली और स्वर्ण पदक जीत लिया।

मिलर ने कहा,“ रेस के दौरान 20 मीटर तक मैंने किसी को नहीं देखा और मैं सिर्फ अपने रेस पर ध्यान दिया।

मुझे लग रहा था कि मैं जीत के करीब हूं लेकिन फेलिक्स ने मुझे चौंका दिया।
इसके बाद रेस जीतने के लिये मुझे कुछ अलग करना था और मैंने वही किया।
इस समय का मुझे बहुत इंतजार था। निश्चित रुप से मैं इससे बहुत खुश हूं।

” अमेरिका की फेलिक्स ने 49.51 सेकेंड के साथ रजत जबकि जमैका की शेरीका जैक्सन ने 49.85 सेकेंड का समय लेकर कांस्य पदक अपने नाम किया।
30 वर्षीय फेलिक्स का यह पांचवां ओलंपिक था लेकिन वह इस बार स्वर्ण पदक जीतने से चूक गयीं।

उन्होंने एथेंस ओलंपिक में 200 मीटर रेस में भी रजत तथा लंदन ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था।

Related Posts: