cm2भोपाल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केन्द्र सरकार से अनुरोध किया है कि लाभार्जन तथा नियमित भुगतान करने वाले राज्य वित्त निगम को पहले की तरह 90 प्रतिशत पुनर्वित्त प्रदान किया जाये.साथ ही राज्य वित्त निगम द्वारा जारी बांड की निवेश सीमा में वृद्धि की जाये.

मुख्यमंत्री चौहान ने इस संबंध में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखा है.उन्होंने कहा है कि राज्य शासन और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) द्वारा राज्य में लघु एवं मध्यम श्रेणी की औद्योगिक इकाइयों के वित्त पोषण के लिये राज्य वित्त निगम की स्थापना की गई थी.इसके बाद से ही सिडबी द्वारा ऋ ण व्यवसाय के लिये निरंतर निगम की कुल जरूरत का लगभग 90 प्रतिशत पुनर्वित्त प्रदान किया जाता रहा है.

परन्तु वर्ष 2010 से सिडबी द्वारा निर्णय लिया गया कि समस्त वित्त निगम को पुनर्वित्त वर्ष 2017 से पूर्णत:समाप्त कर दिया जाये.इसके परिणाम में निगम की पुनर्वित्त राशि अत्यधिक कम हो

फसल क्षति के आकलन के लिये केन्द्रीय दल भेजने का आग्रह-मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अवर्षा से फसलों की क्षति के आकलन के लिये अविलंब केन्द्रीय दल भेजने तथा प्रभावित किसानों के लिये 1900 करोड़ की अतिरिक्त सहायता उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है.इस राशि में वृद्धि संभावित है.उन्होंने केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली और केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिख कर भीषण आपदा से हुई क्षति से अवगत करवाया है.चौहान ने बताया कि क्षति का आकलन करने तथा प्रभावित कृषकों को राहत पहुँचाने के लिये व्यापक स्तर पर सर्वेक्षण कार्य प्रारंभ कर दिया गया है.यह सर्वेक्षण शीघ्र पूरा हो जायेगा.क्षति का वास्तविक आकलन तैयार कर केन्द्र सरकार से अतिरिक्त सहायता राशि की मांग करने विस्तृत मेमोरंडम शीघ्र भेजा जाएगा.

Related Posts:

कांग्रेस ने थाने में दर्ज कराई प्रभात झा के खिलाफ शिकायत
भारतीय स्टेट बैंक हर मोड़ पर आपके साथ
सीबीआई ने वन रक्षक भर्ती मामले में दर्ज की एफआईआर
ऑनलाइन दवा बिक्री का जताया विरोध
उपचुनावों में भाजपा की जीत के लिए जुटा है पूरा प्रशासन : दिग्विजय सिंह
गढ़ा बांध का विरोध शुरू, सैकड़ों की संख्या में किसानों ने बैतूल पहुंचकर जताया वि...