Sensexमुंबई. एक्सपायरी के दिन बाजार भारी गिरावट के साथ बंद होते नजर आया। वहीं सेंसेक्स और निफ्टी भी लाल निशान पर बंद हुए। आखिर क्यों मचा बाजार में इतना हाहाकार, क्या इसकी वजह और अब कैसी रहेगी बाजार की आगे की चाल आइए जानते हैं बाजार के दिग्गजों से।

आइकैन इंवेस्टमेंट के चैयरमैन अनिल सिंघवी का कहना है कि बाजार ज्यादातर फंडामेंटल्स पर टिका हुआ था। सरकार के बदलने के बाद बाजार को बहुत ज्यादा बड़े ग्रोथ की उम्मीद थी। काफी समय बाद बाजार में ऐसी गिरावट देखने को मिली है, लेकिन ये गिरावट एक्सपायरी के कारण नहीं है। सिंघवी के मुताबिक घरेलू निवेश बाजार में अभी और कम होने की उम्मीद है।

वहीं एफआईआई निवेश भी बाजार में ज्यादा बढ़ते हुए नहीं दिखेगा। जमीन अधिग्रहण एक बेहद ही अहम मुद्दा रहेगा। क्योंकि जमीन अधिग्रहण, कच्चे तेल और ग्लोबल संकेतों पर बाजार पूरी तरफ निर्भर है। जमीन अधिग्रहण बिल पास करना सरकार के लिए परीक्षा की घडी रहेगी। क्रूड ऑयल के दम पर बाज आर कुछ वक्त से उछल रहा था। बिनमौसम बारीश के कारण महंगाई बढ़ सकती है और ये बढ़ती महंगाई आगे भी बाजार के लिए बड़ा मुशिक्त मुद्दा बना रहेगा। इसलिए महंगाई को काबू करना बाजार के लिए सबसे जरूरी होगा। अनिल सिंघवी को लगता है कि सरकार को सिर्फ बात नहीं बल्कि काम करके भी दिखाना होगा।

तक्षशिला इंस्टिट्यूशन के वी अनंत नागेश्वरन का कहना है कि ये बिकवाली की कोई बड़ी व्याख्या नहीं है, बल्कि ओवर रिएक्शन है। वी अनंत नागेश्वरन को नहीं लगता कि मध्यम अवधि में एफआईआई की रुचि भारतीय बाजारों से कम होगी। उन्होंने बाजार की हर गिरावट में खरीदारी की सलाह दी है। शॉर्ट टर्म रिस्क ग्लोबल मार्केट के कारण बना रहेगा।

सिमीभौमिक डॉटकॉम की सिमी भौमिक का कहना है कि शुरुआती कारोबार से लगातार निफ्टी कमजोरी दिखा रहा था और एक से बढ़कर एक सपोर्ट लेवल तोड़ते जा रहा था। लेकिन अब निफ्टी 8480 रुपये के आसपास भी जा सकता है। बाजार अगले हफ्ते अच्छी रिकवरी दिखा सकता है। वहीं बैंक निफ्टी को 18300 से नीचे 17,500 पर अगला सपोर्ट है और वहां तक बैंक निफ्टी जा सकता है। लेकिन अगर वो लेवल टूट जाता है तो बैंक निफ्टी और कमजोरी दिखाएगा।
शेयरखान के जय ठक्कर का कहना है कि एसबीआई में आने वाली सीरीज में और गिरावट देखने को मिल सकती है। बैंकिंग शेयरों में अभी कोई लॉन्ग पोजिशन बनाने की सलाह नहीं होगी। टेलीकॉम सेक्टर में आइडिया और भारती इनमें अच्छा मूमेंट्म देखने को मिला है और आगे भी अच्छे मूमेंट्म की ही उम्मीद होगी। आइडिया में कॉन्ट्रा कॉल लिया जा सकता है।

शर्मिलाजोशी डॉटकॉम की शर्मिला जोशी का कहना है कि बाजार में इन स्तरों पर थोड़ी बहुत खरीदारी की जा सकती है। श्रीराम ट्रांसपोर्ट, एनबीसीसी, एलएंडटी, एसबीआई में अच्छी खरीदारी हो सकती हैं, वैल्यूएशन के लिहाज से ये शेयर काफी अच्छे लगते हैं। वहीं ऑटो में टाटा मोटर्स डीवीआर पर भी दांव लगाया जा सकता है।

मार्केट एक्सपर्ट पी फणिशेखर का कहना है कि एफएंडओ एक्सपायरी के चलते बाजार में अस्थिरता देखने को मिली है। वहीं एफआईआई की तरफ से भी अच्छी खासी मुनाफावसूली देखने को मिली है और इन सबके चलते बाजार में कमजोरी दिखी है। लेकिन ये कोई ज्यादा चिंता की बात नहीं है। फंडामेंटली भारतीय बाजार और अर्थव्यवस्था बेहतर है। अभी तेजी से रेट कट आने की उम्मीद नहीं है।

Related Posts: