नवभारत न्यूज ग्वालियर,

स्नातकोत्तर तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों की परीक्षा मंगलवार को दोपहर २ बजे से शुरू होनी थी, लेकिन सीसीई के नंबर अपलोड नहीं होने से रोलनंबर जनरेट नहीं हुए।

छात्रों के विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए जेयू की विभिन्न अध्ययनशालाओं के विभागाध्यक्ष ने परीक्षा भवन पहुंचकर मोर्चा संभाला और विवि प्रशासन पर तकनीकी त्रुटि का ठीकरा फोड़ते हुए बिना रोलनंबर के परीक्षा दिलाई।

खास बात यह रही कि छात्र-छात्राएं बिना रोलनंबर के परीक्षा देते रहे, लेकिन परीक्षा भवन में मौजूद शिक्षक और विभागाध्यक्ष ने इस घटनाक्रम की कोई सूचना परीक्षा नियंत्रक को नहीं दी। हालांकि बाद में सीसीई की लिंक खोलकर नंबर अपलोड की छूट दे दी गई ताकि अगली परीक्षा में रोलनंबर जनरेट हो जाएं।

जेयू में विदहेल्ड की समस्या निपटाने के लिए परीक्षा नियंत्रक डॉ. राकेश कुशवाह ने सीसीई के नंबर अपलोड करने के बाद ही रोलनंबर जनरेट करने की प्रक्रिया शुरू की।

कार्रवाई के डर से कॉलेज संचालकों ने सीसीई के नंबर अपलोड कर दिए, लेकिन विवि की अध्ययनशालाओं में कार्यरत शिक्षकों ने समय पर अंक नहीं डाले और न ही लिंक संबंधी शिकायत परीक्षा नियंत्रक से दर्ज कराई। जिस कारण विवि की ओर से प्रवेश पत्र अपलोड नहीं किये गए, इसलिए मंगलवार को दोपहर एक बजे तक ऐसी ही स्थिति बनी रही।

छात्र प्रवेश पत्र के लिए परेशान होते रहे, क्योंकि उन्हें यह तक नहीं पता था कि कहां उनकी परीक्षा होगी। गुस्साए छात्र परीक्षा भवन में पहुंच गए और नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसा पहली बार उनके साथ हुआ है, जब परीक्षा से पहले प्रवेश पत्र अपलोड नहीं हुए।

छात्रों की शिकायत पर एमबीए (टीए), एमएससी बायोकैमिस्ट्री सहित अन्य अध्ययनशालाओं को विभागाध्यक्ष परीक्षा भवन पहुंचे और अपने संस्थान के स्टूडेंट की पहचान कर परीक्षा में बिठाया। टीचरों का कहना था कि चार दिन से विवि की लिंक बंद है, हमारे सभी छात्र पास है इसलिए उन्हें परीक्षा में शामिल किया जा सकता है।

वहीं वरिष्ठ केन्द्राध्यक्ष प्रो. राजीव जैन ने बताया कि हमारी अटेन्डेंस शीट में जिन छात्रों के रोलनंबर थे, उन्हें एचओडी से पहचान करके ही शामिल किया।

परीक्षा निरस्त नहीं तो हंगामा करूंगा

परीक्षा से एक घंटे पहले एमएससी क प्यूटर साइंस तृतीय सेमेस्टर का छात्र अंकित राय परीक्षा नियंत्रक प्रो. राकेश कुशवाह से मिलने पहुंचा और कहा कि हमारे डिपार्टमेंट के छात्र-छात्राओं के रोलनंबर अपलोड नहीं किये गए इसलिए परीक्षा कैंसिल कर दी जाए।

अगर परीक्षा भवन में एग्जाम होगा तो मैं हंगामा-प्रदर्शन करूंगा। इस पर कंट्रोलर ने स त लहजे में कहा कि मुझे हंगामे की धौंस मत देना, अगर सीसीई के नंबर अपलोड नहीं किए तो रोलनंबर नहीं निकलेगा और परीक्षा टाइम पर शुरू हो जाएगी।

इसके बाद छात्रनेता ने परीक्षा भवन पहुंचकर बखेरा खड़ा कर दिया। इस मामले में परीक्षा नियंत्रक प्रो. राकेश कुशवाह का कहना था कि मुझे बिना रोलनंबर के एग्जाम कराने की कोई सूचना नहीं दी गई।

Related Posts: