पटना ,  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बिहार की छवि को बेहतर बनाने के लिए राज्य के सभी हितैषियों को आवश्यक कदम उठाने की सलाह देते हुए आज कहा कि प्रदेश में दूसरी हरित क्रांति लाने की क्षमता है और इसमें तीसरा कृषि रोडमैप बहुत कारगर सिद्ध होगा।

श्री कोविंद ने यहां तीसरे कृषि रोडमैप 2017-22 का शुभारंभ करते हुए कहा कि बिहार के मेहनतकश लोग राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देते रहे हैं। दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े शहरों के विकास में बिहार के लोगों की प्रतिभा एवं परिश्रम का सदा योगदान रहा है। विदेशों में भी बड़ी संख्या में बिहार के लोग विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार की छवि को राज्य के बाहर सही रूप में बताने और छवि को निखारने में बिहार के सभी हितैषियों को आवश्यक कदम उठाना चाहिए। राष्ट्रपति ने कहा कि राज्य सरकार जितनी जल्दी इस दिशा में आगे कदम बढ़ायेगी उतना ही लाभ होगा।

तीसरे कृषि रोड मैप से भी बिहार की छवि को निखारने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में पर्याप्त पानी, ऊर्वर भूमि और मेहनती लोग हैं। निश्चित रूप से राज्य में दूसरी हरित क्रांति लाने की क्षमता है।

Related Posts: