21pic2कुरुक्षेत्र(हरियाणा). हिन्दुओं के पवित्र ग्रंथ गीता को लेकर कैबिनेट मंत्री ने इतनी विवादित बात कह दी कि सुनने वाला हर शख्स सन्न रह गया.

एक और राज्य सरकार ‘गीता’ को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की पूरी तैयारी कर चुकी है, लेकिन राज्य सरकार के मंत्री ही इसके महत्व और संदेश को समझ पाने में असमर्थता जाहिर कर रहे हैं. लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने वीरवार को यह कबूल कर खुद को उपहास का पात्र बना लिया.

वे कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के सिनेट हॉल में ‘भारतीय कला में गीता की प्रासंगिकता’ विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे. जब मंच पर संबोधन के लिए पहुंचे तो कहा कि ‘गीता’ मेरे पल्ले नहीं पड़ती, सिर के ऊपर से निकल जाती है. मेरी बदकिस्मती है कि ‘गीता’ विषयक सेमिनार में मुझे बुलाया गया.