भोपाल, 6 सितम्बर. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने कहा है कि नसरूल्लागंज में राष्ट्रीय सुरक्षा मिशन के अंतर्गत वर्ष 2009-10 में दिये गए गेहूं बीज अनुदान में बड़ा घोटाला प्रकाश में आया है.

केंद्रीय कृषि मंत्रालय की योजना का संचालन राष्ट्रीय बीज निगम के माध्यम से किया जाता है. बताया गया है कि तीन बीज व्यापारियों द्वारा 20 लाख रूपये की अनुदान राशि फर्जी नामों पर डकार ली गई है. घोटाले के इस प्रकरण में दो व्यक्तियों के खिलाफ तो कृषि विभाग द्वारा कार्रवाई की गई, भूरिया ने कहा है कि नसरूल्लागंज ब्लाक में राष्ट्रीय बीज निगम ने बीज विक्रेता रवि मालवीय, सतीशकुमार खंडेलवाल तथा बसंतकुमार दुबे के प्रतिष्ठानों को बीज विक्रय का लायसेंस दिया था. ये तीनों लायसेंसधारी सत्तारूढ़ भाजपा से जुड़े हुए व्यक्ति हैं. इन व्यक्तियों ने कृषि विभाग के कतिपय अधिकारियों की सांठगांठ से इस बड़े घोटाले को अंजाम दिया है.

zp8497586rq

Related Posts: