spo1नई दिल्ली,   उच्चतम न्यायालय ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को सोमवार को कड़ी फटकार लगाते हुए बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के हितों के टकराव के मसले पर उसे खुद फैसला लेने की सलाह दी.

इस बीच श्रीनिवासन ने बीसीसीआई के सचिव अनुराग ठाकुर के खिलाफ झूठा शपथ-पत्र दायर करने (परजुरी) का मुकदमा शीर्ष अदालत से वापस ले लिया. न्यायमूर्ति तीरथ सिंह ठाकुर और न्यायमूर्ति फकीर मोहम्मद इब्राहीम कलीफुल्ला की खंडपीठ ने बीसीसीआई की दलीलें सुनने के बाद कहा कि बोर्ड श्रीनिवासन के हितों के टकराव के बारे में खुद फैसला करे. न्यायालय इस मामले की लगातार निगरानी नहीं कर सकता. शीर्ष अदालत ने सुनवाई के दौरान बीसीसीआई के वकील से कहा कि यदि आपने (बोर्ड) श्रीनिवासन के खिलाफ फैसला किया है तो उस पर अडिग रहिए.

 

Related Posts: