04modiनयी दिल्ली, 4 सितम्बर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डाक्टरों, इंजीनियरों , वैज्ञानिकों, प्रशासनिक एवं पुलिस सेवा के अधिकारियों समेत अपने क्षेत्र में प्रतिष्ठित मुकाम हासिल करने वाले सभी लोगों से अपील की है कि वे छात्रों को पढाने के लिये साल भर में कम कम से कम सौ घंटे का वक्त जरूर निकालें. श्री मोदी ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां मानेकशॉ सेंटर से देश भर के छात्रों को सीधे और वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संपर्क साधते हुये कहा कि यह जरूरी नही है सिर्फ शिक्षक ही बच्चों को पढायें.

समाज में प्रतिष्ठित मुकाम पर पहुंच चुके लोगों को भी अपने इलाके के किसी स्कूल में जाकर हफ्ते में एक घंटे पढाना चाहिये.डाक्टर इंजीनियर वैज्ञानिक आईएएस आईपीएस अधिकारी और अपने क्षेत्र में प्रतिष्ठित मुकाम पर पहुंच चुके लोगों को साल में कम से कम 100 घंटे बच्चों को स्कूल जाकर पढाना चाहिये. उन्होंने कहा कि बच्चों को शिक्षित करना एक ऐसा काम है जिससे आप अपनी भावी पीढी का भविष्य बेहतर बनाते हैं और इस अभियान से जितने ज्यादा लोग जुडेंगे उतना अच्छा होगा क्योंकि उससे दुनिया में भारत को एक मजबूत शक्ति के रूप में उभरने में मदद मिलेगी .

Related Posts: