तीन दिवसीय बुरहानपुर उत्सव संपन्न

भोपाल,

भारत भवन में आयोजित तीन दिवसीय बुरहानपुर उत्सव के समापन सत्र को संबोधित करते हुए महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनिस ने कहा कि भारत के इतिहास में बुरहानपुर ने सभी युगों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

इसी क्रम में बुरहानपुर के कलाकारों ने एक बार पुन: इतिहास रचा है. राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कला केन्द्र भारत भवन में प्रदेश के विभिन्न जिलों के कलाकारों द्वारा प्रस्तुति का आरंभ बुरहानपुर से हुआ है. यह वहां की जनता के लिये गर्व और सम्मान का अवसर है.

इसके लिये चिटनिस ने संस्कृति विभाग का आभार मानते हुए कहा कि इतिहास, संस्कृति, उद्योग, कृषि के साथ-साथ खान-पान के क्षेत्र में भी बुरहानपुर बहुत समृद्ध है. राज्य स्तर पर प्रस्तुतिकरण के साथ-साथ राष्ट्रीय पर भी इस प्रकार की गतिविधि के लिये प्रयास जारी रहेंगे.

चिटनिस ने बुरहानपुर के इतिहास और संस्कृति पर प्रकाश डालते हुए बताया कि संगीत की तीनों विधाओं, भजन-कीर्तन की पद्धतियों के साथ-साथ उर्दू के विकास में भी बुरहानपुर के कलाकारों और विद्वानों का योगदान रहा है.

बुरहानपुर उत्सव के तीसरे दिन कवि सम्मेलन, मुशायरे का आयोजन किया गया. इसके साथ ही बंजारा नृत्य की प्रस्तुति भी हुई. उत्सव के अवसर पर आनंद मेले में स्थानीय व्यंजन भी उपलब्ध थे.

बुरहानपुर उत्सव के समापन अवसर पर सांसद आलोक संजर, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शौकत मोहम्मद खान भी उपस्थित थे.

Related Posts: