नयी दिल्ली,

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवान केवल नक्सलियों और आतंकवादियों से ही लोहा नहीं लेते हैं बल्कि ये देश में चुनाव जैसी लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

श्री सिंह ने गुरूग्राम स्थित कादरपुर अकादमी में सीआरपीएफ के 79 वें स्थापना दिवस पर भव्य परेड की सलामी लेने के बाद जवानों तथा अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस बल की भूमिका बहुमुखी है।

नक्सलियों से लड़ना हो, आतंकवादियों से लोहा लेना हो या शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराना हो तो सभी केवल सीआरपीएफ को याद करते हैं। स्वच्छ भारत अभियान में भी बल के जवानों ने अद्भुत योगदान दिया है। बल संवैधानिक प्रक्रियाओंं की रक्षा में भी योगदान देता है और ये सभी कार्य बखूबी किये जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इस मौके पर वह सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीदों को नमन करता हैं और उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं। बल के जवानों के साहस और बहादुरी की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया में ऐसी कोई बुलेट नहीं है जो हमारे जवानों के मनोबल को डगमगा सके।

गृह मंत्री ने कहा कि जीवन की क्षति की भरपाई किसी भी तरीके से नहीं की जा सकती लेकिन सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि शहीदों के परिजनों को सभी संसाधनों से मिलाकर कम से कम एक करोड रूपये की सहायता दी जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार ने 2016 में इस पर विचार किया था और उन्हें इस बात की खुशी है कि इस विचार पर अमल हो रहा है।

Related Posts: