bpl2भोपाल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने कहाकि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ हमारी प्रतिबद्घता होनी चाहिए, जो सक्रिय भागीदारी और लगन से ही सुनिश्चित होगी. चौहान ने यहां प्रदेश स्तरीय बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ कार्यशाला का समापन कर रहे थे. प्रदेश के सभी छप्पन जिलो से इस कार्यशाला में भाग लेने पदाधिकारी पहुंचे जिनमें जिले से एक पदाधिकारी एक महिलामोर्चा सदस्य और एक युवा मोर्चा कार्यकर्ता शामिल था.

अभियान के राष्ट्रीय संयोजक श्री राजेन्द्र फड़के, पार्टी के अनुसूचित जाति, जनजाति के राष्ट्रीय संगठन श्री भगवतशरण माथुर, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के प्रदेश प्रभारी रघुनंदन शर्मा, महिला एवं बालविकास मंत्री श्रीमती माया सिंह, अभियान के ब्रांड एंबेसेटर राजा बुंदेला, युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री राहुल कोठारी ने भी कार्यशाला को सम्बोधित किया.

अभियान के राष्ट्रीय संयोजक डॉ. राजेन्द्र अशोक फड़के ने कहा कि हमें समाज की क्षेत्रीयता की विभिन्न परिस्थितियों को देखते हुए उपाय करना होंगे. डॉ. राजेन्द्र अशोक फड़के ने कहा कि प्रदेश में आशा कार्यकर्ताओं और अंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच यदि समन्वय बेहतर हो तो अपेक्षित परिणाम आयेंगे. पार्टी के सांसद और विधायक संगठन के कार्यक्रमों से सक्रियता से जुड़कर वांछित नतीजा दे सकते हैं. उन्होंने बताया कि दीपावली के बाद मध्यप्रदेश में कन्या बचाओं-कन्या पढ़ाओ अभियान के अंतर्गत प्रदेश स्तरीय बढ़ा सम्मेल कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा. 15 जून से 22 जून तक कन्या स्वागत का कार्यक्रम भी आयोजित किया जायेगा.

पार्टी के अनुसूचित जाति, जनजाति के राष्ट्रीय संगठन भगवतशरण माथुर ने उन क्षेत्रों में अधिक ध्यान देने पर जोर दिया जिन चार जिलों में लिंगानुपात में विशेष असंतुलन है. माथुर ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को मंडल और गांव तक विस्तारित करने के लिए आवश्यकता रेखांकित की. उन्होंने कहा कि मंडल स्तर पर एक संयोजक और पांच सदस्यों को लेकर कार्यकारिणी का गठन अगले माह तक निश्चित रूप से कर लिया जाना चाहिए.

समिति के प्रदेश प्रभारी रघुनंदन शर्मा ने कहा कि सामाजिक परिवर्तन का कार्य लेकर पार्टी ने राष्ट्रीय अभियान को गति दी है. क्योंकि सामाजिक परिवर्तन का कार्य सरकार के भरोसे पर ही नहीं छोड़ा जाना चाहिए.

महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि देश में मध्यप्रदेश एकमात्र ऐसा राज्य है, जिसने अपने दृष्टिपत्र में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पर दर बिन्दुओं, दृष्टिकोणों से ध्यान केन्द्रित किया है. रघुनंदन शर्मा ने बताया कि आगामी 27,28 और 29 अक्टूबर को सभी जिलों में अभियान की जिला बैठकें आयोजित की जायेंगी जिनमें मंडल संयोजक को आमंत्रित किया जायेगा और कार्यक्रम को गति दी जायेगी. राजनैतिक पूर्वाग्रह से परे हर इच्छुक जन का सहयोग आमंत्रित करेंगे और एक सामाजिक बोध का विकास करेंगे, जिसमें कन्या जन्म को वरदान मानने की मानसिकता जगाई जायेगी.

Related Posts:

दक्ष व्यक्तियों के लिये सृजन मेले लगेंगे
आतंकवाद के खिलाफ संप्रग सरकार ने की लड़ाई कमजोर
ऐसे राष्ट्र का निर्माण करें, जहां सभी सुरक्षित हों: मोदी
वायुसेना के लिए एेतिहासिक दिन, तीन महिलाएं बनी लड़ाकू विमान की पायलट
केंद्रीय कर्मचारियों का वेतन बढ़ा, एक करोड़ कर्मचारी, पेंशन भोगी होंगे लाभान्वित
सिंधू ने जीता रजत, रचा इतिहास