हाथों में शव लिए पहुंचे विश्रामघाट, संत हिरदाराम नगर में गम का माहौल

संत हिरदाराम नगर,

सोमवार को 8 वर्ष के छात्र की गला घोंट कर की गई हत्या के बाद परिजनों में आक्रोश व्याप्त है. मंगलवार को जैसे ही हमीदिया अस्पताल से बच्चे का शव परिजनों को मिला वैसे ही छात्र के मां, पिता और दादी बिलख उठे. उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि आरोपी को फांसी की सजा मिले नहीं तो हम उसको कड़ी सजा देंगे चाहे हमें जेल क्यों न हो जाए.

क्राईस्ट मैमोरियल स्कूल में पढऩे वाले कक्षा दूसरी के छात्र की गला घोंट कर की गयी हत्या से समूचे संत हिरदाराम नगर में गम का माहौल है. लोगों का कहना है कि जिस तरह बच्चे की हत्या की गयी है, उसी तरह आरोपी को भी कड़ी सजा मिलना चाहिए.

हत्यारे को दी जाए कठोर सजा-पंचायत

संत नगर की सामाजिक संस्था पूज्य सिंधी पंचायत ने 8 वर्षीय मासूम बच्चे भरत की हत्या पर कठोर निंदा कर, हत्यारे को कठोर सजा देने की मांग की है. पंचायत के समस्त पदाधिकारियों ने बताया कि संत नगर में हुई इस घटना में पूरे नगर को हिला दिया है. ऐसे हत्यारे को जितनी कठोर सजा दी जाये उतनी कम है.

बिना नम्बर की गाड़ी से लेकर गया था शव

आरोपी द्वारा कार्तिक की जूते के लेस से गला घोंट कर हत्या की गयी थी. वारदात को उसने एल.ई.डी बल्ब की दुकान में अंजाम दिया. बच्चे की हत्या के बाद एल.ई.डी बल्ब के खाली बोरे में लाश को रखकर अपने मामा की बिना नं. की टी.वी.एस. स्पोर्ट बाइक में ले जाकर मुबारकपुर चौराहा पर फेंंका. घटना के तुरंत बाद ही शक की बुनियाद पर पुलिस ने एक्शन लिया था.

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हुई गिरफ्तारी

थाना परवलिया सड़क बैरागढ़ के द्वारा आरोपी को सी.सी.टी.वी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार किया गया. जिसमें सुधीर अरजिया टी.आई बैरागढ़, सहायक उपनिरीक्षक मोहन शर्मा, नरेन्द्र राजपूत, थाना परवलिया के टीआई जे.एस महोवीया, उपनिरीक्षक कृपाशंकर सिंह, प्रधान आरक्षक राजू रघुवंशी, प्रधान आरक्षक विनोद, मनीष ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. पुलिस ने धारा 302, 364, 201 भा.द.वि. के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर आरोपी को जेल भेज दिया.

मृतक की दादी ने कहा आरोपी को मिले फांसी की सजा

मृतक छात्र कार्तिक की दादी पुष्पा बाई ने नवभारत संवाददाता को बताया कि आरोपी को फांसी की सजा देकर लटका देना चाहिए जिससे कि कोई दूसरा व्यक्ति इस तरह की घटना को अंजाम न दे. उन्होंने रोते हुए कहा कि जिस तरह 8 साल के कार्तिक की जूते की लेस से हत्या की गयी है उससे न केवल मेरा परिवार दु:खी है बल्कि संत नगर के लोगों को भी इस घटना से दु:ख पहुंचाया.

पुरानी रंजिश के चलते की बच्चे की हत्या

पुलिस से मिली जानकारी के आरोपी विशाल रुपानी राजेन्द्र नगर में ही रहता है. और वह 6-7 माह से कार्तिक को उसके घर जाकर टयूशन पढ़ाता था. इसी बीच कार्तिक की मां सविता से इसके अवैध संबंध हो गए. इसी को लेकर आरोपी की परिवारजनों ने जमकर पिटाई भी की थी. यहां तक की मामला थाने तक पहुंचा था लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की.

उधर मृतक की मां सविता से उसके अवैध संबंध बन गए थे और वह उसे अपने साथ रखने की धमकी देता था. इसी को लेकर उसने कुछ दिन पूर्व ही परिवारजनों को घर बर्बाद करने की धमकी भी दी थी और 8 जनवरी को क्राइस्ट मैमोरियल स्कूल से पुरुषोत्तम माहवार के बेटे कार्तिक को स्कूल से ले जाकर कृष्णा प्लाजा में अपनी दुकान पर ले गया और जूते के लेस से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी.

इसके बाद वह अपने मामा की टीवीएस मोटर साइकिल से बोरे में बच्चे की लाश को रखकर मुबारकपुर चौराहा टोल प्लाजा के पास झाडिय़ों में फेंक आया.

Related Posts: