cropsइंदौर, 13 मार्च. प्रदेश के मालवा-निमाड़ समेत ग्रामीण अंचलों में शुक्रवार को बे-मौसम बारिश हुई. कई इलाकों में ओले भी गिरे. बिन मौसम की बारिश के कारण गेहूं व अन्य रबी फ सलों को नुकसान हुआ है.

बे-मौसम बारिश के कारण तापमान में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई है. अचानक बारिश के कारण गेहूँ की क्वालिटी पर असर पड़ेगा. फसल कटने को खेतों में तैयार खड़ी थी. दाने पर पानी लगने के कारण उसकी चमक फीकी पड़ जाएगी, जिससे क्वालिटी में अंतर आ सकता है. इंदौर में 12.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई है. मौसम के अचानक करवट बदलने से स्थिति विपरीत हो गई है. पूरे उत्तर भारत को इस बेमौसम बरसात ने अपनी चपेट में ले लिया है.

यहां हुआ नुकसान
– शाजापुर में गरज-चमक व तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हुई जो शुक्रवार को भी रूक-रूक कर जारी रही. रबी की फसल पकने की कगार पर है तो प्याज शेशवकाल में. ऐसे में हुई बेमौसम बारिश से गेहूं, चना और प्याज तीनों को भारी नुकसान होगा.

– उज्जैन और बड़वानी में किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई हैं.

– रतलाम में बरसात फिर किसानों की उम्मीद पर पानी फैर दिया है.

– झाबुआ क्षेत्र में गेहूं फ सल पर वर्षा का काफ ी असर पड़ा है, फ सल की कटाई कार्य इस समय जोरों पर है.

यहां गिरे ओले
राजोद (धार). तेज हवा व ओलो के साथ भारी बारीश हुई, जिससे किसानो के गेहुॅं, चना, लहसुन, सहीत सभी प्रकार की फसलो में भारी नुकसान हुआ.

दो बच्चियों की मौत
बुरहानपुर. धूलकोट क्षेत्र के खातला समिपस्थ पुरा ग्राम में बिजली गिरने से 2 दस वर्षिय बच्चियों की मौत हो गई.

Related Posts: