• जिला प्रशासन की टीम ने किया सर्वे
  • आग से करीब 100 करोड़ के नुकसान का अनुमान

संत हिरदाराम नगर,

संत हिरदाराम शापिंग कॉम्पलेक्स में रविवार को दोपहर करीब 12 बजे शार्ट सर्किट से लगी आग में कपड़े की करीब 100 दुकानें जलकर खाक हो गईं. 150 दुकानों पर भी आग की लपटों से नुकसान हुआ है.

सोमवार को जिला प्रशासन की टीम सर्वे करने के लिए संत नगर पहुंची. जहां आगजनी से हुई दुकानों को नुकसान का सर्वे किया गया. शाम 4 बजे तक अधिकारियों ने सर्वे किया जिसमें लगभग 99 प्रतिशत नुकसान आंका गया है. जानकारी के मुताबिक कॉम्पलेक्स में कपड़े की दुकान में आग से करीब 100 करोड़ के नुकसान का अनुमान है.

उधर, जिन व्यापारियों की कपड़े की दुकान पूरी तरह से नष्ट हो गई है उनके सामने अब रोजी रोटी के संकट पैदा हो गया है. वहीं भाजपा के जिला उपाध्यक्ष राम बंसल रेनवाल ने आगजनी को बुझाने में काफी रोल अदा किया. वे आगजनी की घटना से लेकर देर रात्रि तक कॉम्प्लेक्स में ही मौजूद थे.

इसके अलावा बैरागढ़ थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया सहित उनका पूरा स्टॉफ व अन्य थानों का बल भी मौके पर रहा. जहां नगर निगम की दमकलों के कर्मचारी पूरी मुस्तैदी से लगे रहे और रविवार सोमवार की मध्यरात्रि तक आग पर काबू पाया जा सका. उधर, व्यापारियों ने सोमवार को पूरा मार्केट बंद रखा.

बीडीए ने तो बनाई थी 85 दुकान, हो गई 200

बीडीए ने सन्  1997 से 2000 के बीच में कॉम्पलेक्स का निर्माण किया गया था जहां पर बीडीए ने 85 दुकानें बनाकर व्यापारियों को दी थीं लेकिन तब से अब तक दुकानों की संख्या बढ़ती गई और यह 200 के पार हो गई.

यह भी एक जांच का विषय है कि आखिर नगर निगम और नजूल के अधिकारियों को इसकी जानकारी क्यों नहीं थी. जो कॉम्पलेक्स को सकरा कर दिया जिससे आगजनी की घटना पर काबू पाना निगम की दमकलों के कर्मियों को भारी पड़ गया.

व्यापारियों ने रखी बैठक, जमकर हुई नोकझोक

घटना के बाद सोमवार सुबह सिंधु समाज स्कूल में व्यापारियों की एक बैठक रखी गई. जिसमें सभी ने एक दूसरे से चर्चा की. इस बीच व्यापारियों का गुस्सा भी फूट पड़ा. कई व्यापारियों ने रोजी रोटी को लेकर प्रशासन से मुआवजे की मांग की तो वहीं कई व्यापारियों ने कॉम्पलेक्स को फिर से बनाने की मांग की. इधर, बैठक के बाद व्यापारियों ने पूरे बाजार में नारेबाजी कर दुकानें बंद करवा दी.

कार्यकर्ताओं से हुई बहस

सोमवार को घटना स्थल पर सर्वे के दौरान आप पार्टी की जिला संयोजक रीना सक्सेना अपने कार्यकर्ताओं के साथ मौके पर पहुंच गई और जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान उनसे भाजपा के कार्यकर्ताओं से बहस भी हुई.

रीना सक्सेना का कहना था कि सीएम साहब गुजरात जीत की खुशी मना रहे हैं वहीं बैरागढ़ में एक बार भी देखने नहीं आए. सीएम को आकर व्यापारियों से मुलाकात करनी चाहिए और उनको मुआवजा देना चाहिए.

सेना की टीम और बीना की दमकल ने पाया काबू

रविवार को जैसे ही आग की लपटें बढ़तीं जा रही थीं और जब बेकाबू होने लगी तो सेना की मदद ली गई. बैरागढ़ में भेल, सीहोर, इन्दौर, एयरपोर्ट सहित आसपास की जगहों से दमकल और पुलिस कर्मियों को बुलाया गया.

12 बजे से 6 बजे तक आग की लपटें बहुत तेजी से थीं लेकिन 6 बजे के बाद कंट्रोल हुई थी कुछ देर बाद फिर से आग की लपटें जोर पकडऩेे लगीं जिसके बाद बीना की दमकलों को बुलाना पड़ा. जब जाकर देर रात को आग पर काबू पाया गया. वहीं सेना की टीम ने भी मोर्चा संभाल कर मुस्तैदी से बचाव किया.

कॉम्पलेक्स बनाया लेकिन दमकल के लिए नहीं था रास्ता

जानकारी के अनुसार संत हिरदाराम कॉम्पलेक्स का निर्माण किया गया था उस दौरान न तो बीडीए ने यह ध्यान रखा कि अगर इतनी दुकानें बनाई जा रही है तो कोई भी आगजनी घटना होती है तो मुख्य द्वार रखा जाना था.

लेकिन कॉम्पलेक्स में बड़ा द्वार नहीं बनाया गया इस वजह से रविवार को हुई आगजनी की घटना के बाद निगम की दमकलें आग बुझाने के लिए संत नगर पहुंची तो उन्होंने करीब तीन घंटे काम्पलेक्स के पीछे स्टेडियम की सीढ़ीयां तोड़कर रास्ता बनाया और आगे से दुकानें तोड़कर रास्ता बनाया तब कहीं जाकर नगर निगम के कर्मियों को अन्दर एन्ट्री मिली.

आगजनी घटना में काफी नुकसान हुआ है व्यापारियों के नुकसान का सर्वे किया जा रहा है. सर्वे के बाद ही उनके लिए जो उचित होगा वह शासन स्तर पर दिया जाएगा.
-रमा कलवा, नायब तहसीलदार

आग की घटना के बाद भोपाल से दमकलों को आने में समय लगा क्योंकि उन्हें वीआईपी मूवमेंट के कारण रोक दिया गया यदि समय पर आ जाती तो इतना बढ़ा हादसा नहीं होता. अब दुकानों का सर्वे किया जा रहा है उसके बाद उनके नुकसान का आंकलन कर हर संभव मदद के लिए प्रयास किए जायेंगे.
-राम बसंल, जिला उपाध्यक्ष भाजपा

आगजनी घटना में दमकलें लेट पहुंचीं जिससे बड़ी घटना हुई है. उपराष्ट्रपति के आगमन में सब व्यस्त थे यहां तक की दमकलों को भी रोक दिया गया था इस वजह से तीन घंटा बाद दमकल बैरागढ़ पहुंची. जहां आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था.

बैरागढ़ इतना बड़ा व्यापारी क्षेत्र है लेकिन यहां पर मात्र दो दमकल ही फायर स्टेशन पर मौजूद रहती हैं. वह खटारा हालत में हो गई हैं. स्थानीय व्यापारियों ने 6 दमकलें बढ़ाए जाने की मांग की है जिससे आग पर तत्काल काबू पाया जा सके.
-त्रिलोक दीपानी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता

Related Posts: