bopannaनयी दिल्ली,  भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना सोमवार को जारी विश्व टेनिस रैंकिंग के पुरूष युगल वर्ग में शीर्ष 10 में पहुंच गये हैं जिससे अब उनके पास रियो ओलंपिक के पुरूष युगल वर्ग के लिये अपना जाेड़ीदार चुनने का अधिकार रहेगा हालांकि अंतिम फैसला अखिल भारतीय टेनिस संघ(एआईटीए) की चयन समिति करेगी।

ओलंपिक के लिये युगल टेनिस के नियम कहते हैं कि टॉप 10 में मौजूद खिलाड़ी अपने जोड़ीदार के लिये निचली रैंकिंग के खिलाड़ी को चुन सकता है। अब यह देखना होगा कि बोपन्ना अपने जोड़ीदार के रूप में अनुभवी लिएंडर पेस को चुनते हैं या किसी अन्य खिलाड़ी को। पेस ने फ्रेंच ओपन में मिश्रित युगल का खिताब जीता है और उन्हें रैंकिंग में पांच स्थान का फायदा हुआ है। रियो ओलंपिक खेलों से पहले 36 वर्षीय बोपन्ना के लिये पुरूष युगल रैंकिंग में शीर्ष 10 में स्थान बनाना निश्चित ही फायदेमंद है।

रविवार को संपन्न वर्ष के दूसरे ग्रैंड स्लेम फ्रेंच ओपन के क्वार्टरफाइनल तक पहुंचे बोपन्ना को रैंकिंग में एक स्थान का फायदा हुआ है और वह अब 10वें स्थान पर हैं तथा भारत के भी शीर्ष पुरूष युगल खिलाड़ी हैं। बोपन्ना के 5160 अंक हैं। चार साल पहले लंदन ओलंपिक के समय पेस पुरूष युगल के टॉप 10 में थे और वह बोपन्ना के साथ जोड़ी बनाना चाहते थे। लेकिन उस समय एटीपी टूर में बोपन्ना महेश भूपति के साथ जोड़ी बनाकर खेल रहे थे।

बोपन्ना और भूपति दोनों ने ही पेस के साथ जोड़ी बनाने से इंकार कर दिया था और उस समय यह राष्ट्रीय बहस का मुद्दा बन गया था। पेस को फिर ओलंपिक में 326वीं एकल रैंकिंग के विष्णु वर्धन के साथ जोड़ी बनाकर खेलना पड़ा था और वह मिश्रित युगल में सानिया मिर्जा के साथ उतरे थे जबकि बोपन्ना और भूपति पुरूष युगल में एक साथ खेले थे।

Related Posts: