नई दिल्ली,  मिड टर्म क्रेडिट पॉलिसी के तहत आरबीआई ने रेपो रेट और सीआरआर में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। ऐसे में आरबीआई के फैसले के बाद रेपो रेट 8 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 7 फीसदी पर कायम रहेगा। वहीं सीआरआर में कोई बदलाव नहीं किया गया है और ये 4.75 फीसदी पर कायम है।

आरबीआई ने एक्सपोर्ट क्रेडिट रिफाइनेंस फैसिलिटी (ईसीआरएफ) 15 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दिया है। आरबीआई के मुताबिक एक्सपोर्ट क्रेडिट रिफाइनेंस फैसिलिटी में बढ़ोतरी 0.5 फीसदी सीआरआर कटौती के बराबर है। आरबीआई का कहना है कि यूरोजोन की दिक्कतों का जल्द समाधान नहीं दिखाई दे रहा है। अमेरिका के खराब आर्थिक आंकड़ों की रिकवरी में कमजोरी का संकेत दिखाई दे रहा है। थोक मूल्य सूचकांक और रिटेल महंगाई में बढ़ोतरी जारी है। ब्याज दरों में कटौती से महंगाई पर दबाव पड़ेगा। लिहाजा सिस्टम में लिक्विडिटी बनाए रखना आरबीआई की प्राथमिकता है। जरूरत पडऩे पर ओएमओ के जरिए दखल किया जाएगा।

Related Posts: