bpl3भोपाल,  ब्रांड इंडिया एक ऐसा ब्रांड शो जिसको देखकर हर कोई मदहोश हो गया. होता भी क्यों न आखिर शहर के एक से बढ़कर एक मॉडल्स ने शो के ब्रांडों का प्रोमोशन जो किया था.

इंडियन ड्रेसों के साथ प्रोफेशनल मॉडल्स दिखाई दिये भोपाल स्कूल ऑफ सोशल साइंस में चल रहे फेस्ट फिस्टा-2016 में. जिसके अन्तिम दिन गुरूवार को ब्रांड इंडिया शो रखा गया. जिसमें कॉलेज के 25 मेल और 25 फीमेल मॉडल्स ने अपनी अदाओं के जलवे बिखेरते हुए शहर को एक नये फैशन से अवगत करवाया.

तीन कैटेगरी में हुआ ब्रांड इंडिया

अपने नाम की ही तरह ब्रांड इंडिया इंडियन ब्रांडों को एक मंच पर लाकर उनकी खूबसूरती दिखाने का माध्यम था. इस शो को तीन कैटेगरी में आयोजित किया गया. जिसमें सिल्क, कार्टन और खादी से बने ड्रेसों के लिए अलग-अलग राउंड आयोजित किये गये थे. बीएसएसएस के ओपन स्टेज में मॉडल्स ने सबसे पहले एक से बढ़कर एक साडिय़ां पहनकर वॉक किया. वहीं इंडियन टेड्रिशनल की जान रहने वाले सलवार-कुरते पहनकर जब मॉडल्स आई तो पूरा कॉलेज तालियों की आवाज से गूंज उठा.

जब बात इंडियन ब्रांड की थी तो लड़के कैसे पीछे रहते. वे भी नरेन्द्र मोदी का मेक इन इंडिया का सपना पूरा करते हुए कुरतों में नजर आये. हालांकि वैस्टर्न रंगों से यह शो नहीं बच सका. इसलिए खादी, सिल्क और कार्टन से बने वैस्टर्न ड्रेसों का कलेक्शन भी सामने आया. इस दौरान पांच फैशन डिजानरों के ड्रेसों समेत खादी एवं ग्रामोद्योग द्वारा उपलब्ध करवाई गई ड्रेसों को मॉडल्स ने प्रस्तुत किया.

रंग गई टी शर्ट
फिस्टा का अन्तिम दिन था तो हर कोई इस दिन को खास बनाना चाहता था. इसलिए स्टूडेंट्स ने कॉलेज में जमकर अपनी—अपनी टी शर्ट को रंगवाया. एक तरफ जहां टी—शेट पेंटिंग प्रतियोगिता चल रहीं थी, तो वहीं दूसरी ओर ग्रुपों में स्टूडेंटस ने एक जैसी डिजाइन अपनी ड्रेसों में करवाई.

अपना ब्रांड बेचने बनाया विज्ञापन
मैनेजमेंट के स्टूडेंटस ने अपना ब्रांड बेचने की कला को भी मंच पर बताया. ईवेंट में आयोज़ित एड—मेड शो में 30 सैकेंड़ के अंदर प्रतिभागियों ने अपने ब्रांड की तारीफ करते हुए उसे खरीदने की अपील की. जिसमें कुछ एड यूथ को जोडऩे वाले थे तो कुछ एड अपने प्रोडेक्ट की तुलना दूसरों से करके खुद को बेस्ट बता रहे थे. कार्यक्रम में मस्ती के मूड में दिखाई दे रहे स्टूडेंटस से नवभारत ने खास बातचीत की और उनकी यादों को शेयर किया.

Related Posts: