britainलंदन,  यूरोपीय संघ से अलग होने के संबंध में हुए जनमत सर्वेक्षण में स्कॉटलैंड और उत्तरी आयरलैंड को छोड़कर पूरे ब्रिटेन ने ब्रेग्जिट के पक्ष
में वोट दिया. ईयू में बने रहने के पैरोकार ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने आज आये ब्रेग्जिट मतदान के नतीजे को देखते ही इस्तीफे की घोषणा कर दी. वह अक्टूबर में अपने पद से हट जायेंगे.

जनमत सर्वेक्षण के दौरान ब्रिटेन के कुल 71.8 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट दिया, जिसमें से एक करोड़ 74 लाख 10 हजार 742 मतदाताओं यानी कुल 51.9 प्रतिशत ने ईयू से अलग होने तथा एक करोड़ 61 लाख 41 हजार 241 ने ईयू में बने रहने के पक्ष में वोट दिया. वर्ष 1992 के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में ब्रिटिश मतदाताओं ने मतदान में हिस्सा लिया.

नतीजे घोषित होते ही वैश्विक बाजार में उथलपुथल मच गयी और डॉलर के मुकाबले पाउंड के मूल्य में 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी. इससे पहले पाउंड के मूल्य में इतनी गिरावट 1985 में दर्ज की गयी थी. इससे दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश ब्रिटेन में निवेश को करारा झटका लगेगा और वैश्विक बाजार की धुरी के रूप में उसकी भूमिका प्रभावित होगी. सर्वेक्षण के नतीजे से देश में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल पैदा हो गया है.

शेयर बाजार में अब तक की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गयी है और कई यूरोपीय कंपनियों की कीमत में अरबों डॉलर की कमी आयी है.