vid3बंदर सरी बेगावन,  ब्रुनई के सुलतान ने घोषणा की है कि यहां कोई भी क्रिसमस मनाते पकड़ा गया तो पांच साल तक जेल में डाल दिया जाएगा.

धार्मिक मामलों के मंत्री ने अपने एक बयान में कहा, यह इसलिए बाध्यकारी है ताकि क्रिसमस के खुलेआम उत्सव पर नियंत्रण पाया जा सके. क्रिसमस के उत्सव से हमारी इस्लामिक आस्था प्रभावित होती है. इस महीने की शुरुआत में मुस्लिमों के इमामों के एक ग्रुप ने चेतावनी दी थी वैसे किसी भी उत्सव को नहीं मनाना है जो गैर इस्लामिक है.

बोर्नियो बुलेटिन के मुताबिक इमामों ने कहा था, क्रिसमस उत्सव के दौरान मुस्लिम भी ईसाइयों की तरह व्यवहार करते हैं.

वे क्रॉस धारण करते हैं, कैंडल जलाते हैं, क्रिसमस ट्री बनाते हैं, उनके धार्मिक गीत गाते हैं, क्रिसमस की बधाई देते हैं और उनके धर्म की प्रशंसा करते हैं. ये सारी गतिविधियां इस्लाम के खिलाफ हैं. कुछ लोगों का कहना है कि यह बेहद ही ओछी हरकत है और इसे मुद्दा नहीं बनाना चाहिए. लेकिन एक मुस्लिम राष्ट्र के रूप हमें इन गतिविधियों से बचना चाहिए क्योंकि इससे इस्लामिक आस्था पर चोट पहुंच सकती है. ब्रुनई के कुछ लोगों ने इस बैन को खारिज कर दिया. इन्होंने सोशल मीडिया पर क्रिसमस की तस्वीरें पोस्ट की हैं. रुनई ब्रिटेन का उपनिवेश रहा है.

अभी यहां निरंकुश मुस्लिम राजशाही है. 67 साल के हसनल बोल्किया यहां के सुलतान हैं. यहां पर राजनीतिक असंतोष न के बराबर है. लोग काफी संपन्न हैं. एजुकेशन और हेल्थ की स्थिति भी बहुत अच्छी है. हालांकि रॉयल फैमिल के सदस्यों की राजशाही लाइफस्टाइल के लिए आलोचना होती है. सुलतान के 50वें जन्मदिन पर 1996 में दुनिया के जाने-माने पोप सिंगर माइकल जैक्सन को ब्रुनई ने 987033073.30 रुपये का भुगतान किया था.

शरिया क्रिमिनल लॉ लागू करने को लेकर भी सुलतान विवादों में घिरे थे.

Related Posts: