आईटीआई प्रथम वर्ष की थी छात्रा

नवभारत न्यूज भोपाल,

जहांगीराबाद थाना अंतर्गत भोईपुरा बरखेड़ी में एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना के समय वह घर पर अकेली थी. वारदात की जानकारी तब लगी जब दोपहर के समय पोस्टमैन डाक देने के लिए पहुंचा. पुलिस ने पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है. पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक पूजा यादव उम्र 19 वर्ष भोईपुरा बरखेड़ी में परिजनों के साथ रहती थी. वह आईटीआई कॉलेज से फीटर का कोर्स कर रही थी. पुलिस के मुताबिक पूजा के पिता की कुछ साल पहले मौत हो गई थी, वर्तमान में वह अपनी मां व दो भाई शनि यादव शुभम के साथ रहती थी.

पुलिस के मुताबिक पूजा हर रोज सुबह वह अपने दोनों भाईयों को सुबह 8 बजे के करीब नींद से उठाती थी और चाय बनाकर देती थी. गुरूवार सुबह पूजा ने इन्हें नींद से जगाने में देर हो गई तो बड़े भाई शनि यादव ने उसे डांट दिया. यह बात पूजा को काफी नागवार गुजरी.

जैसे ही शनि व शुभम दस बजे के करीब पुरानी विधानसभा के पास स्थित दुकान के लिए चले गए, वहीं मां भी हर रोज की तरह स्कूल में काम करने चली गइ्र. इसी बीच पूजा ने अपने आप को कमरे में बंद कर फांसी लगा ली. पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है.

अंदर झांककर देखा तो फांसी पर झूल रही थी

पुलिस के मुताबिक दोपहर डेढ़ बजे के करीब डाकिया शनि के घर डाक देने पहुंचा. मकान का दरवाजा खुला हुआ था, लेकिन आवाज लगाने के बाद भी कोई नहीं आ रहा था तो वहां पार पास में रहने वाला रोहित बाथम आया और उसने पहले तो आवाज दी, लेकिन जब कोई जबाव नहीं मिला तो वह अंदर गया, जहां कमरे में पूजा फांसी पर झूल रही थी.

सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने पीएम के लिए हमीदिया भिजवाया. पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है.

छेड़छाड़ से तंग आकर छात्रा ने लगाई थी फांसी

बजरिया थाना अंतर्गत पांच महीने पहले एक छात्रा ने छेड़छाड़ से तंग आकर फांसी लगाई थी. पुलिस ने जांच के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस का कहना है कि परिजनों ने घटना के दो माह बाद शिकायत की थी कि उनकी बेटी के साथ छेड़छाड़ की जा रही थी, जिसके चलते उसने यह कदम उठाया.

पुलिस के मुताबिक बजरिया निवासी 19 वर्षीय छात्रा ने 13 मई को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया था. तीन महीने बाद मृतिका के पिता ने शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि उसकी बेटी को पड़ोस में रहने वाला संजय रैकवार परेशान कर रहा था. स्कूल आते जाते वह उसका पीछा कर छेडख़ानी करता था, इससे वह तंग आ गई थी.

शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने जांच की तथा घटना को लेकर मृतिका के पिता, भाई व मामा से पूछताछ की. पुलिस को सामने आया कि छात्रा ने रोज रोज की छेडख़ानी से तंग आकर आत्महत्या की थी. इसके बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की. पुलिस पूछताछ में आरोपी ने लगाए गए आरोपों को स्वीकारा. पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है.

डिप्रेशन की शिकार महिला ने लगाई फांसी

अयोध्या नगर थाना अंतर्गत अभिनव होम्स में रहने वाली एक 40 वर्षीय महिला ने फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पीएम के लिए भिजवाया. पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है.

पुलिस के मुताबिक अभिलाशा जैन उम्र 40 वर्ष पति गुरूवीर पंवार अभिनव होम्स में रहती थीं. कुछ समय से वे डिप्रेशन में चल रही थीं, जिसका उपचार भी चल रहा है. बताया जा रहा है कि गुरूवीर पंवार बीज निगम में सहायक प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं.

दोपहर के समय जब वे घर पर अकेली थीं, तभी उन्होंने फांसी लगा ली. जब उनके बेटे आए तो उन्होंने यह नजारा देखा और पिता को सूचना दी. पुलिस का कहना है कि अभी मामले की जांच की जा रही है. पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Related Posts: