laluपटना,  आरक्षण नीति की समीक्षा करने संबंधी संघ प्रमुख मोहन भागवत की टिप्पणी को अपने पक्ष में भुनाने का लगातार प्रयास कर रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद का मानना है कि संघ प्रमुख की टिप्पणी बिहार में भाजपा के ”भाग्य का फैसला कर चुकी है.”

उन्होंने साथ ही दावा किया है कि बिहार में 1995 जैसे हालात हैं जब ‘मंडल बनाम कमंडल’ की राजनीति के दौर में जनता दल विजयी हुआ था.”हिंदू भी गौमांस खाते हैं” की टिप्पणी को लेकर भाजपा के हमले की जद में आए लालू ने कहा कि वह एक सच्चे ‘गौपालक” हैं और उनकी पत्नी तथा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ‘घर में आने वाली हर नयी गाय के चरण धोती हैं.” लालू ने संघ के दूसरे सरसंघचालक एम एस गोलवलकर द्वारा लिखी गयी किताब ”विचारों का पुलिंदा” दिखायी. लालू ने कहा, गोलवलकर ने कहा था कि आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जाना चाहिए.

Related Posts: