guptaनयी दिल्ली,  भारतीय जनता पार्टी के नेता और दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तंज कसते हुए कहा है कि वह अपने जिन विधायकों की प्रतिभा का गुणगान कर रहे हैं उनमें से 23 विधायक केवल 12 वीं पास है और इन पढ़े लिखे लोगों में से छह को उन्होंने संसदीय सचिव बनाया है।

श्री गुप्ता ने आज ट्विटर पर यह टिप्पणी करने के साथ ही श्री ‘केजरीवाल के पढ़े-लिखे विधायकों का रियलिटी चेक’.शीषर्क से इन विधायकों के नाम और उनकी शैक्षणिक योग्यता से जुड़ी एक तस्वीर भी पोस्ट की है।

श्री गुप्ता ने कटाक्ष करते हुए लिखा है कि श्री केजरीवाल कहते हैं कि उन्हाेंने कुछ विधायकों को उनकी शैक्षणिक योग्यता के आधार पर संसदीय सचिव बनाया है। लोग खुद ही देख सकते हैं कि इन विधायकों की योग्यता क्या है। इसके लिए श्री गुप्ता ने इन विधायकों के नाम और उसके आगे उनकी शैक्षणिक योग्यता का ब्यौरा दिया है। इनमें से छह संसदीय सचिव हैं।

संसदीय सचिव बनाए गए विधायकों में से वजीरपुर से आप के विधायक राजेश गुप्ता, तिलक नगर से पार्टी विधायक जरनैल सिंह और मोती नगर से विधायक शिवचरण गोयल 12 वीं पास हैं जबकि कोंडली से विधायक मनोज कुमार और नरेला से विधायक शरद चौहान दसवीं पास है और कालकाजी से विधायक अवतार सिंह केवल आठवीं पास है।

श्री गोयल ने अाप के विधायकों का यह रियलटी चेक ट्विटर पर इसलिए डाला है क्योंकि कल श्री केजरीवाल ने दोहरे लाभ के पद के मामले में फंसे अपनी पार्टी के 21 विधायकों का बचाव करने के लिए बुलाए गए एक संवाददाता सम्मेलन में काफी बुलंद आवाज में यह कहा था कि उन्होंने जिन विधायकों को संसदीय सचिव बनाया है वह सब अनपढ़ नहीं है बल्कि काफी पढ़े लिखे और प्रतिभावान लोग हैं।

Related Posts: