spo2नई दिल्ली,  भारतीय घुड़सवारी टेंट पेगिंग टीम मिस्र के काहिरा में आईटीपीएफ विश्वकप में अभी तक का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए तीन स्वर्ण पदक जीतकर स्वदेश लौट आई है. भारतीय टीम इस विश्वकप में तीन स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली टीम रही, वहीं मेजबान मिस्र की टीम ने विश्वकप अपने नाम किया.

भारत को यह उपलब्धि दिलाने में अजय सावंत, सुरेश कुमार, प्रदीप कुमार,जसविंदर सिंह और वांगथम लमाटी का योगदान रहा. भारत ने तीनों स्वर्ण पदक टेंट पेगिंग लांस, टीम टेंट पेगिंग सोर्ड और व्यक्तिगत सोर्ड में जीते.
प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख बृजेश माथुर ने इस उपलब्धि पर कहा यह टूर्नामेंट 11 मजबूत टीमों का काफी कड़ा मुकाबला था. हम विश्वकप तो नहीं जीत पाए लेकिन हमने शानदार प्रदर्शन कर तीन गोल्ड मेडल जीते. हम और भी शानदार प्रदर्शन कर सकते थे लेकिन हमारे दो घोड़े अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के स्तर के नहीं थे.

यही भारतीय टीम अबुधाबी में दिसंबर 2015 में हुए विश्वकप क्वालिफायर में पांच स्वर्ण और दो रजत पदक जीतकर चैंंपियन रही थी. विश्वकप में भारत के अलावा दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, इराक, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, सूडान, जॉर्डन, यमन और मिस्र ने हिस्सा लिया.