Sertaj_azizइस्लामाबाद,   पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने कल कहा कि हमने अपनी सक्रिय तथा सफल विदेश नीति के चलते परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत का प्रवेश रोक दिया है और अब वह अकेले इस ग्रुप में शामिल नहीं हो सकेगा।

श्री अजीज ने पाकिस्तान की सीनेट में एक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा के उत्तर में कहा कि हमने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत का प्रवेश रोक दिया है और अगर उसे प्रवेश मिलता है तो पाकिस्तान के साथ ही मिलेगा।

ध्यानाकर्षण प्रस्ताव भारत, ईरान तथा अफगानिस्तान के बीच चाबहार बन्दरगाह के समझौते तथा पाकिस्तान पर उसके असर पर विचार को लेकर लाया गया था। उन्होंने कहा कि परमाणु आपूर्ति समूह की पिछले सप्ताह वियना की बैठक में पाकिस्तान के दृष्टिकोण को स्वीकार किया गया। इसके बाद हमें आशा है कि भारत अकेले इसमें शामिल नहीं हो सकेगा।

समूह की बैठक इसी महीने सोल में होगी। श्री अजीज ने कहा कि वियना की बैठक में रूस, मेक्सिको, दक्षिण कोरिया तथा न्यूजीलैंड सहित कई देशों ने स्वीकार किया कि एनएसजी में किसी भी देश को प्रवेश निश्चित आधार पर किया जाना चाहिए। उन्होंने चाबहार बंदरगाह की चर्चा करते हुये कहा कि ईरान के इस बंदरगाह के साथ वाटर पोर्ट ट्रस्ट का समझौता हो चुका है जिसके अंतर्गत दोनों बंदरगाहों के बीच रेल लाइन बनायी जायेगी।

Related Posts: