vid2आइजेनहावर,  भारत और अमेरिका के बीच मजबूत होते रक्षा संबंधों का संकेत देते हुए रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को अमेरिका के परमाणु क्षमता से संपन्न शीर्ष विमान वाहकों में से एक पोत यूएसएस ड्वाइट डी आइजेनहावर का दुर्लभ दौरा करने का मौका दिया गया.

इस शानदार विमान वाहक का दौरा करने का मौका किसी विदेशी नेता को दिया जाना बड़ी बात माना जाता है. पर्रिकर को यह मौका अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने खुद दिया. दोनों नेताओं ने इस जहाज पर लगभग चार घंटे बिताए.
यहां पर्रिकर को इस शीर्ष विमानवाहक का विस्तृत एवं प्रत्यक्ष अनुभव दिया गया. यह विमान वाहक हाल के वर्षों में इराक व अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के अभियानों में मदद पहुंचाने के लिए एक अहम भूमिका निभा चुका है.

Related Posts: